अमर भारती : बॉलीवुड की एक्ट्रेस कंगना रनौत अपनी पेशेवर ज़िंदगी से ज्यादा अपनी व्यक्तिगत जीवन को लेकर ज्यादा सुर्खियों में रहती है। बता दें कि पिछले दिनों रिलीज हुई फिल्म मणिकर्णिका : द क्वीन ऑफ झांसी को रणबीर कपूर और आलिया भट्ट ने नहीं सरहाया था। जिसकी वजह से कंगना रनौत उनसे काफी गुस्से में दिखाई दी। जब इस बारे में कंगना से पूछा गया तो कंगना ने दोनो एक्ट्रस की खिंचाई करते हुए आलिया और रणबीर को बेवकूफ तक कह डाला था।

वहीं,इंटरव्यू के दौरान कंगना ने रणबीर-आलिया को इस जनरेशन का युवा चेहरा बताएं जाने की आलोचना करते हुए कहा की वो दोनो युवा नहीं हैं। रणबीर कपूर लगभग 37 साल के हैं वहीं दूसरी ओर आलिया भट्ट 27 साल की हैं। वो कहती है कि जब मेरी माँ 27 साल की थी तब उनके तीन बच्चे थे। इसलिए यह बिल्कुल बेकार बात है,ये बच्चे हैं कि डंब हैं पता नहीं। जब इनसे सेक्स लाइफ पर बात करनी होती है,तब इन्हें कोई दिक्कत नहीं होती है। ज्यादातर इंस्टाग्राम पर अपनी फोटो शेयर करते हैं। लेकिन जब वहीं देश के जरुरी मुद्दों पर बात करने का टाईम आता है,तो यहीं लोग इस बारे में बात करने से बचते हैं।’

कई लोग कहते हैं कि रणवीर कपूर फिल्म इंडस्ट्री से हैं,उनके घर पर्याप्त लाइट और पानी आता है इसलिए वो अपना राजनीतिक व्यू नहीं रखना चाहते हैं। आपको नहीं लगता कि इस तरह के बयान गैर जिम्मेदार नागरिक के जैसे हैं।  कंगना आलिया-रणबीर पर भड़कते हुए कहती है कि मैं भी एक स्टार हूं और मुझे लगता है कि एक जिम्मेदार नागरिक होने के लिए हमें लोगों को एजुकेट करके रखना चाहिए। लेकिन लगता हैं कि वो दोनों अपनी जिम्मेदारियों को भूल चुके हैं।

कंगना ने आलिया के लिए कहा उन्हें आगे बढ़कर अच्छी फिल्म को सपोर्ट करना चाहिए। अगर वो अपनी खुद की आवाज नहीं बन सकती है तो उनका अस्तित्व सिर्फ करण जौहर की कठपुतली होने तक का ही रह जाएगा। ऐसे में मैं उन्हें सफल कैसे कह सकती हूं,उम्मीद करती हूं कि वो सफलता के सही मायने को समझे और अपनी जिम्मेदारी को सही तरिके से निभा पाएं। आशा करती हूं कि आलिया अपनी इस सोच से ऊपर उठे और अपने कर्तव्य को समझें।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-