अमर भारती : सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने कश्मीर को एक अलग देश बनाने की मांग का समर्थन अपने ब्लॉग पोस्ट में किया था। बता दें अब इस पर विवाद बढ़ने के बाद फेसबुक ने अपनी गलती में सुधार करते हुए माफी मांग ली है। दरअसल, फेसबुक के सायबर सिक्योरिटी पॉलिसी प्रमुख नैथनियल ग्लेचर ने बुधवार को एक ब्लॉग पर पोस्ट किया था और इसमें उन्होंने कश्मीर को भारत से अलग एक स्वतंत्र राष्ट्र भी बताया।

लोगो की आपत्ति के बाद, फेसबुक ने अपने ब्लॉग से इस संदर्भ को हटाया और यह भी कहा कि कश्मीर पर हुई गलतफहमी को लेकर हम माफी चाहते हैं। फेसबुक ने कहा कि  हम ऐसे देशो और क्षेत्रों को सूचीबद्ध कर रहे थे, जिन पर ईरानी नेटवर्क का प्रभाव था। ऐसे में हमने गलती से कश्मीर को भी इस सूची में शामिल कर लिया। ऐसा नहीं किया जाना चाहिए था और हमने ब्लॉग में सुधार कर दिया है। हम किसी भी तरह की गलतफहमी को लेकर पुरे देश से माफी चाहते हैं।

ग्लेचर ने अपने ब्लॉग में लिखा था कि कश्मीर भारत से अलग एक सत्ता है लेकिन अब हमने ऐसे हजारों फर्जी पेजों और अकाउंट को हटाया है, जो कि आपत्तिजनक सामग्री पोस्ट कर रहे थे। इनमें 513 पेज, समूह और अकाउंट शामिल हैं जो मिस्त्र, भारत, इंडोनेशिया, इजरायल, इटली, कश्मीर, कजाकिस्तान और व्यापक स्तर पर मिडिल ईस्ट राष्ट्र और उत्तरी अफ्रीका से चलाए जा रहे थे। आपत्ति के बाद कश्मीर का नाम इस सूची से अलग किया गया।

गौरतलब है कि फेसबुक के लिए चाहे कश्मीर की बात कुछ भी हो पर हमारे देश के लिए कश्मीर आज भी बहुत अहम हिस्सा है और हमारे देश के लोग कश्मीर को लेकर कोई भी समझौता नही चाहते है।

यदि आप भी मीडिया क्षेत्र से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-