अमर भारती : छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिले सुकमा से एक बेहद हैरतअंगेज कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां दो नक्सलियों महिला समेत 10 नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया है। आत्समर्पण करने वाले नक्सलियों ने बताया कि नक्सली नेता लगातार उनका शोषण कर रहे थे। उनकी प्रताड़ना से तंग आकर उन सभी ने आत्मसमर्पण करने का फैसला किया है।

पुलिस अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि जिले के कोंटा थाना में बालेंगतोंग गांव के रहने वाले दस नक्सलियों ने पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के अधिकारियों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। इन नक्सलियों में 2 महिलाएं भी शामिल हैं। आत्समर्पण करने वाले नक्सलियों ने बताया कि उन्होंने नक्सली नेताओं की लगातार प्रताड़ना से तंग आकर सरेंडर करने का फैसला किया है।

पुलिस और सुरक्षाबलों के समक्ष आत्समर्पण करने वाले नक्सली दंडकारण्य आदिवासी किसान मजदूर संगठन से जुड़े हैं। सभी के खिलाफ बस और अन्य वाहनों में आगजनी करने और बम लगाने जैसे कई गंभीर मामलों में शामिल होने का आरोप भी है।

अधिकारियों ने बताया कि नक्सल इलाकों में सुरक्षाबलों के दबाव और अंदरूनी क्षेत्रों में शासन की योजनाओं के पहुंचने के कारण नक्सली संगठन छोड़ मुख्यधारा में शामिल हो रहे हैं। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आत्समर्पण करने वाले नक्सलियों को शासन की योजनाओं का लाभ दिया जाएगा।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-