अमर भारती : भगोड़े नीरव मोदी को जल्द ही भारत में वापस लाया जा सकता है। बता दें कि सीबीआई की एक टीम भगौड़े घोषित हीरा कारोबारी नीरव मोदी के ब्रिटेन से प्रत्यर्पण मामले में स्थानीय अधिकारियों की सहायता के लिए 29 मार्च को लंदन जा रही है। दरअसल लंदन की एक अदालत में कारोबारी की जमानत याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई होनी है और इसी के चलते अधिकारियों ने यह जानकारी दी है। अधिकारियों ने बताया कि संयुक्त निदेशक स्तर के एक अधिकारी को जरूरी दस्तावेजों के साथ बुधवार लंदन रवाना होने का काम सौंपा गया है।

इस 48 वर्षीय हीरा कारोबारी पर अपने मामा मेहुल चोकसी के साथ मिलकर पंजाब नेशनल बैंक के साथ दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी करने का आरोप है। ब्रिटेन के एक अखबार द टेलिग्राफ ने मोदी को लंदन के एक पॉश इलाके में रहने की बात बताई थी। इसके बाद नीरव को भारत के प्रत्यर्पण के आग्रह पर गिरफ्तार किया गया था। नीरव मोदी को वेस्टमिन्स्टर मजिस्ट्रेट अदालत में पिछले सप्ताह पेश किया गया था, जहां उसने भारत में उसे प्रत्यर्पित किए जाने का विरोध किया। जिला न्यायधीश मैरी मैलन ने नीरव मोदी को जमानत नहीं देते हुए उसे 29 मार्च तक के लिए हिरासत में भेज दिया था।

अदालत ने कहा कि इस बात को मानने के मजबूत आधार हैं कि अगर उसे जमानत दी गई तो वह आत्मसमर्पण नहीं करेगा। गौरतलब है कि यह खबर लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान आई है और इस मामले पर विपक्ष ने मोदी सरकार को घेर लिया था, पर अब यह मोदी सरकार के लिए बहुत बड़ी राहत की बात है। जाहिर है कि एक तरफ अब मौजुदा सरकार को लोकसभा चुनाव में इसका फायदा मिलता दिखाई दे रहा है तो वही विपक्ष के पास कहने के लिए कुछ बचा है।

यदि आप भी मीडिया क्षेत्र से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-