अमर भारती : पिछले एक हफ्ते से चल रहे JNU कैंपस में हड़ताल ने सोमवार को एक विकराल रूप ले लिया। छात्रों ने विरोध प्रदशन के दौरान कुलपति के घर का घेराव करके, घर के ताले, खिड़कियों के शीशे तोड़ कर वहां के सुरक्षाकर्मियों से मारपीट की। इस घटनाक्रम के दौरान छात्रों द्वारा घऱ में बंधक बनाकर कुलपति की पत्नी के साथ काफी बदसलूकी भी की गई। घटनाक्रम के कुछ देर बाद सुरक्षा कर्मियों ने कुलपति की पत्नी को घर से बाहर निकाला। छात्रों द्वारा इस बदसलूकी के दौरान उन्हें काफी चोट भी आई। बता दें कि इससे पहले भी जेएनयू छात्रसंघ के छात्र कुलपति के साथ मारपीट और बदसलूकी कर चुके हैं। सोमवार देर शाम को जेएनयू छात्रसंघ और वामपंथी संगठनों के छात्रों ने

कुलपति प्रो. एम जगदीश कुमार के घर का घेराव किया। लेकिन उस समय इन छात्रों के द्वारा घेराव किए जाने के दौरान कुलपति घर पर नहीं थे लेकिन उनकी पत्नी छात्रों के हमले के चलते घायल हो गई हैं। बता दें कि इस साल से जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में कंप्यूटर आधारित प्रवेश परीक्षा से दाखिला शुरू होने के विरोध में सोमवार को छात्रसंघ के आह्वान पर छात्रों के साथ व शिक्षकों ने सामूहिक भूख हड़ताल किया। आठ दिन से चल रहे इस भूख हड़ताल में शामिल छात्रसंघ की पूर्व पदाधिकारी व हरियाणा निवासी गीता कुमारी की तबीयत खराब हो गई और वह बेहोश हो गई। जानकारी के मुताबिक उन्हें सफदरजंग अस्पताल में भर्ती किया गया है। वहीं, विश्वविद्यालय प्रबंधन ने छात्रसंघ के आरोपों को नकारते हुए कहा कि कंप्यूटर आधारित प्रवेश परीक्षा का फैसला शैक्षिक और कार्यकारिणी परिषद में हुआ था। प्रवेश परीक्षा में बहुवैकल्पिक प्रश्न पूछे जाएंगे, जिससे छात्रों को किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी।

इस मामले पर जेएनयू में विश्वविद्यालय प्रबंधन और छात्रसंघ आमने-सामने आ गए। JNU छात्रसंघ के साथ आठ दिन से 11 छात्र नेशनल टेस्टिंग एजेंसी से कंप्यूटर आधारित प्रवेश परीक्षा के विरोध में भूख हड़ताल पर बैठे थे।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यू