अमर भारती :अमर भारती :चुनाव प्रचार के दौरान नेताओं को भाषणों की मर्यादा याद दिलाने के लिए (IPS) ने चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज की है। बता दें कि भाषणों में विपक्षी नेता या व्यक्ति के लिए ‘पागल’ और ‘मेंटल’ जैसे शब्दों के इस्तेमाल किया जा रहा है। चुनाव आयोग ने इस शिकायत पर विचार करने के बाद तय किया है कि किसी भी पार्टी के नेता या उम्मीदवार भाषण के दौरान विरोधियों के लिए पागल या मेंटल शब्द का इस्तेमाल बिल्कुल भी नहीं करेंगे।

2. प्रियंका गांधी का चुनावी मोड पूरी तरह से सक्रिय दिखाई दे रहा है, प्रियंका गंगा मैया के आशिर्वाद के बाद अब भगवान राम के मंदिर में मथा टेकने को तैयार हैं। चुनावी तारीखों के ऐलान के बाद से ही सभी पार्टीयां जनता के दरबार के साथ भगवान के दरवाजे पर दस्तक देना शुरू कर चुकी हैं। इसी कड़ी में प्रियंका 27 मार्च को अयोध्या के दौरा करेंगी और उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की खोई हुई साख तलाशने के लिए बोट यात्रा के बाद ट्रेन यात्रा की शुरूआत करेंगी।

3. भारतीय जनता पार्टी ने छत्तीसगढ़ में नए चेहरों को चुनावी मैदान में उतारने की तैयारी की है। बता दें कि पार्टी ने इस बार जातिगत समीकरण का भी ध्यान रखा है जिसे ध्यान में रखते हुए कई पुराने चेहरों को टिकट नहीं दिया गया है। बता दें कि इसी कड़ी में पूर्व सीएम रमन सिंह के बेटे को भी टिकट नहीं मिल पाया है… इस बार की राजनीतिक हालात के हिसाब से कैडर और जातिगत समीकरण भी काफी निर्णायक साबित हो सकते हैं। बता दें कि महासमुंद में 22% साहू और 20% कुर्मी वोटर हैं।

4. पश्चिम बंगाल में 42 लोकसभा सीटों में से 28 सीटों पर बीजेपी उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर की जा चुकी है। इस सूची में बर्धमान-पूर्व लोकसभा से पिछली बार यानी 2014 में उम्मीदवार रहे संतोष राय की जगह परेश चंद्र दास को टिकट मिला है। इससे गुस्साए बीजेपी नेता संतोष राय ने फेसबुक पोस्ट के जरिये पार्टी और नेताओं को अंजाम भुगतने तक की चेतावनी दे डाली। फेसबुक पोस्ट के जरिये संतोष राय ने न केवल पार्टी आलाकमान बल्कि प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष, मुकुल राय, और चुनाव प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय से भी सवाल पूछे हैं। बता दें कि इस पोस्ट में खुद को आर्थिक रूप से कमजोर होने की बात कर उन्होंने नाराजगी जाहिर की है।

5. पश्चिम बंगाल में बीजेपी ने उम्मीदवारों के नाम के चुनाव से पहले विशेष रणनीति तैयार की है। बता दें कि राज्य में 42 सीटों पर प्रत्याशी तय करने के लिए भाजपा ने 2 महीने पहले से ही एक आंतरिक सर्वे कराया। ये सर्वे सिर्फ पार्टी के लिए ही नहीं बल्कि लोगों के लिए भी आश्चर्यजनक था। सर्वे में हर सीट पर 6500 लोगों से राय ली गई है इसमें लोगों से यह भी पूछा गया था कि वो किस बीजेपी नेता को अपनी सीट से लड़ाना चाहते हैं। पार्टी ने इस बात का ध्यान रखा था कि सर्वे में अपनी ओर से किसी नेता का नाम न दिया जाए। ताकि लोग खुद अपना भाजपा नेता तय कर सकें। बता दें कि इस सर्वे में बीजेपी राज्य महिला मोर्चा की प्रेसिडेंट लॉकेट चटर्जी का नाम तेजी से उभर कर सामने आया है।

6. लोकसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने मथुरा से एक बार फिर सिने अभिनेत्री हेमा मालिनी पर भरोसा जताया है। हेमा इस बार भी चुनाव मैदान में दमखम के साथ उतरने जा रही हैं। इसी कड़ी में आरएलडी ने चुनाव आयोग से शिकायत की है कि हेमा मालिनी विभिन्ना टीवी चैनलों पर विज्ञापन कर आचार संहिता का उल्लंघन कर रही हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यक निर्वाचन अधिकारी वेंकटेश्वर लू को दी गई शिकायत में आरएलडी ने कहा है कि हेमा मालिनी ने जिन विज्ञापन फिल्मोंर में काम किया है, उन्हें  चुनावों के दौरान टीवी पर न दिखाया जाए… इससे चुनावी आचार संहिता का उल्लंघन होता है। बता दें कि राष्ट्री य लोकदल ने यह कदम मथुरा के आरएलडी प्रत्यातशी की शिकायत के बाद उठाया है।

7. लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की अमरोहा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार राशिद अल्वी ने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राशिद अल्वी ने इसके पीछे कोई खास वजह नहीं बताई, लेकिन सूत्रों की माने तो उन्होंने ये फैसला टिकट मिलने में देरी के चलते लिया है। बता दें कि राशिद अल्वी कांग्रेस की घोषणा पत्र समिति के चेयरमैन हैं और उनका अमरोहा से उम्मीदवारी वापस लेना कांग्रेस के लिए बड़ा झटका साबित हो सकता है। फिलहाल राशिद अल्वी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि वो चुनाव नहीं लड़ेंगे। राशिद अल्वी ने इसके पीछे निजी कारणों का हवाला दिया है। सूत्रों के अनुसार, कांग्रेस ने फिलहाल सचिन चौधरी को अमरोहा से टिकट दे दिया है।

8. लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरण के मतदान के लिए आज नामांकन का आखिरी दिन है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी आज अपना नामांकन दाखिल किया। बता दें कि इस दौरान महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस भी मौजूद रहेंगे। नामांकन से पहले रैली में गडकरी ने प्रियंका पर निशाना साधते हुए कहा,”अगर मैंने इलाहाबाद-वाराणसी जलमार्ग नहीं बनाया होता, तो वह (प्रियंका गांधी वाड्रा) नाव यात्रा कैसे कर सकती थीं? उन्होंने गंगा जल भी पीया, क्या वह यूपीए सरकार में ऐसा सकती थी? मार्च 2020 तक, गंगा नदी 100% साफ होगी…. इसी कड़ी में कांग्रेस नेता राज बब्बर, जनरल वीके सिंह, हेमा मालिनी समेत कई बड़े चेहरे पर्चा दाखिल किया। राजनीतिक दलों के लगातार अपने उम्मीदवारों की घोषणा के साथ-साथ चुनाव प्रचार भी जोरों पर है।

9. लोकसभा चुनाव 2019 की मुनादी होने के बाद से राजनीतिक पार्टियों का एक दूसरे के खिलाफ हमला लगातार बढ़ता जा रहा है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शिक्षामित्रों और अनुदेशकों के मुद्दे पर बीजेपी सरकार पर हमला किया है। प्रियंका गांधी ने कहा कि भाजपा नेता टीशर्टों की मार्केटिंग के अलावा अपना ध्यान दर्दमंदों की ओर भी दें। प्रियंका गांधी ने सोमवार को ट्वीट कर कहा, “उत्तर प्रदेश के शिक्षामित्रों की मेहनत का रोज अपमान होता है, सैकड़ों पीड़ितों ने आत्महत्या कर ली. जो सड़कों पर उतरे, सरकार ने उनपर लाठियां चलाईं, रासुका दर्ज किया. भाजपा के नेता टीशर्टों की मार्केटिंग में व्यस्त हैं, काश वे अपना ध्यान दर्दमंदों की ओर भी डालते.”

10. लोकसभा चुनाव 2019 से ठीक पहले बीजेपी में शामिल होने की खबरों के बीच लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता ने अपने झारखंड इकाई की अध्यक्ष को पार्टी से निकाल दिया है। ऐसी खबरें थीं कि RJD की झारखंड इकाई की अध्यक्ष अनपूर्णा देवी पार्टी से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो सकती हैं, उससे पहले ही RJD ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया। माना जा रहा है कि अब RJD से निकाले जाने के बाद अनपूर्णा देवी भाजपा में शामिल होंगी और बीजेपी उन्हें कोडरमा से उम्मीदवार बना सकती है।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यू