अमर भारती : अगले चार से पांच महीनों तक क्रिकेट के सभी खिलाड़ी काफी वयस्त रहने वाले हैं क्योंकि पहले के दो महीनें आईपीएल और फिर क्रिकेट का महामुकाबला यानी विश्व कप जिस पर की सारी दुनिया की निगाहें रहती है। अब बात करें खिलाड़ियो की तो उनके लिए तो आईपीएल से ही विश्व कप की भी तैयारी शुरु हो जाएगी। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के गेंदबाजी कोच आशीष नेहरा को लगता है कि आईपीएल के दबाव वाला टूर्नामेंट होने से खिलाड़ियों को विश्व कप के लिए तैयारी करने में मदद मिलेगी। नेहरा ने कहा कि आप इस दबाव से होकर विश्व कप में जा रहे हैं और अगर कोई विराट कोहली को आईपीएल नहीं खेलने के लिए कहता है और वह विश्व कप के लिए नए सिरे से आते हैं तो मुझे नहीं लगता कि यह ठीक है।

दरअसल आईपीएल का फाइनल मई के बीच में है और विश्व कप में भारत का पहला मैच पांच जून को है जिसके बीच में तीन सप्ताह का गैप है। गैरी कर्स्टन ने भी नेहरा का समर्थन करते हुए कहा कि आईपीएल जैसे दबाव वाले टूर्नामेंट में खेलन से भारतीय खिलाड़ियों को फायदा होगा और साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यह भारतीय खिलाड़ियों की  विश्व कप की तैयारियों के लिए बहुत अच्छा है।

गौरतलब है कि आईपीएल का टूर्नामेंट हर साल होता है जबकि विश्व कप चार साल में एक बार ही होता है और इसमे खास बात यह है कि आईपीएल का आयोजन भारत में किया जाता है जबकि विश्व कप की मैजबानी हर बार किसी नए देश को करने को मिलती है। तो ऐसे में यह दर्शको के लिए भी खास हो जाता है कि जब एक ही साल में क्रिकेट के दो महामुकाबले देखने को मिलते है।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यू