अमर भारती : आतंकी हमले को लेकर न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि उनके कार्यालय को क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों में गोलीबारी से नौ मिनट पहले बंदूकधारी का घोषणापत्र मिला था। मस्जिद में जुमे की नमाज के दौरान हुए आतंकी हमले में 50 लोगों ने अपनी जान गवाई थी। और 49 लोग अब भी घायल हैं। रविवार को न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने कहा है कि ‘मैं उन 30 लोगों में से एक हूं जिन्हें हमलावरों ने हमले से नौ मिनट पहले घोषणापत्र भेजा था। उन्होंने कहा, इस घोषणापत्र में ‘जगह या अन्य विशिष्ट जानकारियां नहीं दी गई थीं।

न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री ने बताया कि उन्होंने लंबे, अस्पष्ट और साजिशपूर्ण घोषणापत्र को पढ़ा था। उन्होंने कहा, ‘तथ्य यह है कि यह इस हमले से जुड़ा एक चरमपंथी दृष्टिकोण वाला वैचारिक घोषणापत्र था, यह बेहद तकलीफ देने वाला है।

शुक्रवार न्यजीलैंड के लिए काला दिन जैसा रहा क्योंकि यहां बंदूकधारियों ने क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों पर हमला करके 49 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। इस हमले में मरने वालों में महिलाएं और मासूम बच्चों सहित 7 भारतीय भी शामिल हैं। हमले को अंजाम देने के लिए हमलावर की पहचान ऑस्ट्रेलियाई नागरिक के तौर पर हुई है जो फिलहाल पुलिस की हिरासत में है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक हमलावर को शनिवार को कोर्ट में पेश किया गया था। जब उसे कोर्ट लाया गया तो उसके हरकतों ने सबको हैरान कर दिया। वह इस घटना को अंजाम देने के बाद कोर्ट में हस रहा था। कोर्ट में जज ने हमलावर के खिलाफ हत्या का आरोप तय किया है। माना जा रहा है कि अभी उस पर और भी आरोप लगाए जा सकते हैं।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यू

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here