अमर भारती : मुलायम सिंह के बाद पीएम मोदी दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने तारिफ की है। उन्होंने ऐसा बयान दिया है कि जो कांग्रेस के अंदर भुकंप ला सकता है। उनके इस बयान से पार्टी को आगामी लोकसभा चुनाव में भारी नुकसान हो सकता है। गुरुवार को शीला दीक्षित ने कहा कि मनमोहन सिंह आतंकवाद से लड़ने में उतने कठोर नहीं थे जितने कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं। साथ ही शीला दीक्षित ने यह भी कहा है कि नरेंद्र मोदी के ज्यादातर काम राजनीति से प्रेरित होने के साथ ही राजनीतिक लाभ उठाने के लिए होते हैं।

इस बयान के सामने आने के बाद शीला दीक्षित ने सफाई दी है कि मनमोहन सिंह का आतंकवाद को लेकर उतना कड़ा कदम नहीं होता जितना कि पीएम मोदी उठाते हैं। बाद में उन्होंने कहा कि अगर मेरे बयान को किसी दूसरी तरह पेश किया जा रहा है तो इसमें मैं कुछ नहीं कह सकती। उन्होंने 26/11 के हमले के बाद यूपीए सरकार के कदम को लेकर कहा कि कि यह मानना पड़ेगा कि मनमोहन सिंह आतंकवाद से लड़ने में इतने मजबूत नहीं थे जितने कि अब के पीएम हैं।  इस चुनावी मौसम शीला दीक्षित के बयान से कांग्रेस पार्टी को काफी ज्यादा नुकसान हो सकता है क्योंकि कांग्रेस के कई नेता पार्टी का दामन छोड़ कर जा रहे हैं।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यू