अमर भारती : लोकसभा चुनाव के एलान के बाद चुनावों के तारिखों को लेकर कई नेताओं की नाराजगी दिख रहीं है ऐसे में  सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुनावों के तारिखों के लेकर सरकार पर हमला किया है। उन्होंने  कहा कि लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया को लंबा इसलिए खींचा गया है ताकि भाजपा  बंगाल को परेशान करने की अपनी योजना के तहत एक और हमला (स्ट्राइक) करा सके।  ममता ने यह भी कहा कि मंगलवार को लोकसभा चुनावों के लिए उनकी पार्टी के उम्मीदवारों की सूची जारी की जाएगी ममता ने कहा, ‘कुछ वरिष्ठ पत्रकारों ने मुझे जानकारी दी है कि एक और हमला (स्ट्राइक) होगा. मैं नहीं कह सकती कि किस तरह का हमला।

अप्रैल में तथाकथित… तथाकथित… तथाकथित के नाम पर, इसी वजह से यह (मतदान की प्रक्रिया) 19 मई तक जारी रहेगी, उन्होंने कहा कि’ चुनाव आयोग जैसी संवैधानिक संस्था के लिए मेरे मन में बहुत सम्मान है, लेकिन पश्चिम बंगाल में माहौल खराब करना भाजपा की योजना का हिस्सा है। ममता ने कहा कि उन्हें लंबी खींची जा रही चुनावी प्रक्रिया से कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन इससे चुनाव कर्मी एवं वोटरों को दिक्कतें होंगी, उन्हें चिलचिलाती गर्मी का सामना करना पड़ेगा।  ममता ने कहा कि मैं अपने राज्य के लोगों को बेहतर तरीकें से जानती हूं। बंगाल के लोगों के लिए मेरे मन में बहुत सम्मान है, लेकिन भाजपा उनके प्रति अनादर दिखा रही है।

भाजपा ने किया पलटवार

ममता के आरोपों पर भाजपा ने कहा कि उनके आरोप बेबुनियाद हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि उनकी बेबुनियाद आरोप लगाना उनकी आदत है। वह केवल हवा में बातें करती हैं। यदि उनके पास सबूत है तो वह उन्हें सार्वजनिक करें।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यू