अमर भारती : लोकसभा चुनाव में कुछ ही समय बचा है कि राजनीति काफी गर्मा गई है मौजूदा सरकार अपने कामकाज को गिना रही है तो विपक्षी पार्टियां उसे घेरने में लगीं हैं। बीजेपी एक बार फिर सत्ता में आने के लिए सबका साथ सबका विकास को लेकर काम करती नजर आ रही है तो विपक्ष भी महागठबंधन बनाने से नहीं चूके हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के गुंटूर से विपक्ष पर जमकर निशाना साधा पीएम मोदी ने कभी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के सहयोगी रहे तेलुगु देशम पार्टी के प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू पर राज्य को अपने स्वार्थ के लिए बांटने वाली कांग्रेस के समक्ष समर्पण करने का आरोप लगाया।

मोदी की इस जनसभा के विरोध गुंटूर में जगह-जगह पोस्टर लगे थे तो वहीं टीडीपी कार्यकर्ताओं ने विरोध करने के चलते काले गुब्बारे उड़ाए भारतीय जनता पार्टी की सरकार को रोकने के लिए विपक्षी दलों के महागठबंधन को भी पीएम मोदी ने आड़े हाथों लिया लेकिन उनके निशाने पर मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ज्यादा रहे।

पीएम ने कहा जब कोई मुख्यमंत्री सत्य के बजाय लगातार असत्य ही बोले तो साफ है कि उसकी जमीन खिसक चुकी है। उन्हें एहसास हो गया है कि जनता का भरोसा उन पर से उठ चुका है आंध्र प्रदेश को दिए गए धन के एक-एक पैसे का हिसाब मांगा है इसलिए नायडू उनके खिलाफ हैं। नायडू ने एनटीआर के पद-चिह्नों पर चलने का वादा किया था क्या वह चल सके हैं कांग्रेस के शासनकाल में दिल्ली का अहम हमेशा राज्यों का अपमान करता था।

इसलिए एनटीआर ने आंध्र प्रदेश को कांग्रेस मुक्त बनाने का फैसला लिया था और टीडीपी का गठन किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि जिस टीडीपी नेता को नामदारों के अहम का विरोध करना चाहिए था और उसे चकनाचूर करना चाहिए था वह उनके साथ हाथ मिला रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि अमरावती के पुन:विकास का वादा करने वाले मुख्यमंत्री अब अपने विकास में जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा कि नायडू गरीबों के लिए नई योजनाएं शुरू करने के स्थान पर एनडीए सरकार की योजनाओं को अपना बताते रहे हैं। राज्य की प्रगति के लिए केंद्र सरकार ने अनंतपुर में केंद्रीय विश्वविद्यालय, विशाखापत्तनम में आईआईएम और मंगलगिरी में एम्स बनाने का फैसला किया है।

देश को स्वच्छ ऊर्जा मुहैया कराने के संबंध में मोदी ने कहा कि 60 साल में जहां सिर्फ 12 करोड़ गैस कनेक्शन दिये गए थे तो वहीं एनडीए सरकार ने सिर्फ चार साल में 13 करोड़ कनेक्शन दिए हैं। मोदी सरकार को रोकने के लिए बन रहे विपक्ष के महागठबंधन को पीएम मोदी ने महामिलावट करार दिया।

और उन्होंने कहा कि महामिलावट का ये क्लब ऐसे लोगों का क्लब है जहां लगभग हर किसी पर गरीब को देश को धोखा देने के आरोप में कानून का शिकंजा कस रहा है उन्होंने कहा महा-मिलावट के जिस क्लब में यहां के मुख्यमंत्री जी शामिल हुए हैं उसका मकसद सिर्फ अपने स्वार्थ को अपनी राजनीति के दीए को जलाए रखने का है। जनता के भले से कोई मतलब नहीं है।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट