अमर भारती : नागरिक आपूर्ति निगम मामले में जांच के दौरान आरोपियों की फोन टैपिंग के मामले में डीजीपी मुकेश गुप्ता और नारायणपुर एसपी रजनेश सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि इस मामले दोनों आरोपी अधिकारियों के खिलाफ गंभीर आपराधिक आरोप के आधार पर मामला दर्ज किया गया। दोनों ही अधिकारियों पर नान घोटाले में साक्ष्य छुपाने और जांच को प्रभावित करने के आरोप हैं। बता दें कि नान घोटाले की जांच के दौरान आरोपियों और संबंधित दर्जनों लोगों के फोन टैप करने के मामले में डीजी मुकेश गुप्ता और नारायणपुर एसपी रजनेश सिंह के खिलाफ यह मामला दर्ज है।

बताया जा रहा है कि दोनों अधिकारियों पर साजिश, फर्जी दस्तावेज बनाने समेत कई अलग-अलग धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। वहीं इस मामले में FIR दर्ज हते ही इस मामले में एक नया मोड़ सामने आया दरअसल डीएसपी आरके दुबे ने हाईकोर्ट में शपथपत्र देकर आरोप लगाया कि ACB के IG एसआरपी कल्लूरी और एसपी कल्याण ऐलेसेला ने उन पर दबाव डालकर उनसे झूठा बयान दिलवाया है।

यदि आप भी मीडिया क्षेत्र से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-

Comments are closed.