अमर भारती : शुकवार को ससंद का स6 का फी हंगामेदार रहा एक बार राफेल की गूंज संसद में सुनाई दी। विपक्षी दलों ने एक बार फिर राफेल मामलें को लेकर सरकार लपर जमकर हमला बोला है। लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्षी दलों के सदस्यों ने नारेबाजी शुरू कर दी। सदन की बैठक शुरू होने पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने प्रश्नकाल शुरू कराया। इसी बीच कांग्रेस के सदस्य हंगामा करते हुए अंग्रेजी सदन के आसन के समीप आ गये। राफेल मुद्दे को लेकर विपक्षी सदस्य चौकीदार चोर है के नारे लगा रहे थे। इस हंगामे में कांग्रेस के साथ ही वामपंथी दल, तेलुगूदेशम पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के सदस्य भी शामिल थे और ये सभी आसन के समीप आकर राफेल मुद्दे पर नारेबाजी करने लगे।

ससंद में राफेल मद्दे के हंगामें के बीच टीएमसी के सांसद सौगत रॉय ने कहा, ‘मोदी और शाह दोनों देश की रक्षा रीढ़ को खत्म करना चाहते हैं।’

वहीं कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा ‘हमने इसपर संयुक्त संसदीय बैठक की मांग की थी। उससे सबकुछ पता चल जाता। हमें अब कोई स्पष्टीकरण नहीं चाहिए। हम पीएम से भी काफी स्पष्टीकरण सुन चुके हैं।’

वहीं इस पर जबाव देते हुए रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, तत्कालीन रक्षामंत्री मनोहर परिकर ने विदेश सचिव के नोट के जवाब में कहा था कि शांत रहें, चिंता करने की कोई बात नहीं है। सबकुछ सही चल रहा है। अब आप पूर्व पीएमओ में सोनिया गांधी के नेतृत्व में राष्ट्रीय सलाहकार परिषद को क्या कहते हैं? वह क्या था? उन्होंने कहा कि यह गड़े मुर्दे को उखाड़ने जैसा है।

यदि आप भी मीडिया क्षेत्र से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से