अमर भारती: दिल्ली में आज से रामलीला मैदान में बीजेपी दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरू कर रही है। भाजपा मिशन 2019 में जीत हांसिल करने के लिए कुछ नया मूल मंत्र बनाएंगी और राष्ट्रीय परिषद की बैठक का उद्घाटन बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह करेंगे यह बैठक समान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर तबके के लोगों को शिक्षा एवं रोजगार में 10 प्रतिशत आरक्षण देने का प्रावधान करने वाले संविधान संशोधन विधेयक को लोकसभा और राज्यसभा की मंजूरी मिलने के बीच हो रही है। और 2019 लोकसभा चुनाव को जीतने के लिए भाजपा इस बैठक में कोई अच्छी रणनीति बना सकती है।

भाजपा अपनी राष्ट्रीय परिषद की बैठक को विस्तृत स्वरूप देने जा रही है। इसमें हर लोकसभा क्षेत्र के लगभग दस प्रमुख नेता हिस्सा लेंगे। बैठक में सभी सांसदों, विधायकों, परिषद के सदस्यों, जिला अध्यक्षों व महामंत्रियों के साथ हर क्षेत्र के विस्तारकों को भी बुलाया गया है। बैठक में राजनीतिक व आर्थिक मुद्दों समेत तीन प्रमुख प्रस्तावों के पारित किये जाने की संभावना है।

इसमें राम मंदिर के मुद्दे पर भी पार्टी का रुख स्पष्ट किया जा सकता है। इस विषय पर आरएसएस समेत हिन्दुवादी संगठन मंदिर निर्माण के लिए कानून बनाने की मांग कर रहे हैं। वर्तमान सरकार के दौरान कितनी तेजी से विकास हुआ है। इसमें सबसे ज्यादा जोर भ्रष्टाचारमुक्त सरकार पर दिया जाएगा। और कांग्रेस की पिछली सरकारों के घोटालों की तुलना करते हुए भाजपा अपनी बेदाग सरकार को जनता के सामने लेकर जाएगी।

समापन भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘मिशन 2019’ के लिए पार्टी का मुख्य चुनावी नारा भी दे सकते हैं। यह अब तक की सबसे बड़ी राष्ट्रीय परिषद बैठक होगी। जिसमें देशभर से लगभग 12 हजार प्रमुख कार्यकर्ता जुटेंगे। और कांग्रेस के 60 साल के सरकार के कामकाज की भी चर्चा की जाएगी। और वहीं इस बैठक के लिए कुछ रूटों को भी बंद किया गया है।

वहीं व्यावसायिक वाहनों को जेएलएन मार्ग पर राजघाट से अजमेरी गेट तक, आईटीओ से मिंटो रोड तक डीडीयू मार्ग, देशबंधु गुप्ता रोड पर पहाडग़ंज चौक व वाई पाइंट शीला सिनेमा से अजमेरी गेट तक, आसफ अली रोड, श्रद्घानंद मार्ग, विवेकानंद मार्ग और महाराजा रणजीत सिंह मार्ग पर गुरुनानक चौक से बाराखंभा व टॉलस्टॉय क्रासिंग तक आवागमन की अनुमति नहीं होगी। इसके लिए उन सड़कों से जाने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड सकता है।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट