अमर भारती : अमेरिकी-मेक्सिको सीमा दीवार योजना के लिए 5.7 अरब डॉलर की राशि आवंटित करने से इनकार किए जाने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शीर्ष डेमोक्रेटिक नेताओं नैंसी पेलोसी एवं चक शुमर के साथ बैठक बीच में ही छोड़कर चले गए।

प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी और सीनेट में अल्पमत के नेता चक शुमर से पूछा कि यदि आंशिक रूप से बंद पड़े सरकारी कामकाज को फिर से शुरू कर दिया जाए तो क्या वे आगामी 30 दिनों में सीमा दीवार के लिए राशि आवंटित किए जाने के कदम का समर्थन करेंगे। पेलोसी ने जब ‘नहीं’ में इसका जवाब दिया तो ट्रंप नाराज हो गए।

नाराज ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘मैं चक और नैंसी के साथ बैठक बीच में छोड़कर आ गया। समय की पूरी बर्बादी थी। मैंने पूछा कि यदि हम कामकाज फिर से शुरू कर दें तो 30 दिन में क्या आप दीवार या स्टील अवरोधक समेत सीमा सुरक्षा को मंजूरी देंगे? नैंसी ने कहा, नहीं! मैंने अलविदा कह दिया और कुछ नहीं किया जा सकता था।

इससे पहले ट्रंप ने विपक्षी पार्टी के धन आवंटन के लिए राजी नहीं होने की स्थिति में राष्ट्रीय आपातकाल लागू करने की धमकी दी थी ताकि वह अवैध आव्रजकों को देश में आने से रोकने के लिए दीवार या अवरोधक बनाने की अपनी योजना को क्रियान्वित कर सकें।

ट्रंप के बैठक के बीच से चले जाने का कारण

ट्रंप के बैठक बीच से ही चले जाने से अमेरिका में राजनीतिक अस्थिरता का नया दौर शुरू हो गया है। ट्रंप के बीच से हटने के बाद नैंसी और शुमर ने संवाददाताओं से कहा कि डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता किसी भी हाल में सीमा दीवार के लिए धन आवंटित करने के इच्छुक नहीं हैं।

उन्होंने इशारा दिया कि पार्टी अपना निर्णय नहीं बदलेगी। पेलोसी ने व्हाइट हाउस के सिचुएशन रूम में बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि बैठक कक्ष में माहौल अच्छा नहीं था। लेकिन शुमर ने कहा कि ट्रंप की बात नहीं मानी गई तो वह बैठक से चले गए। लेकिन इससे पहले ट्रंप ने कहा था मेरे पास राष्ट्रीय आपातकाल लगाना अंतिम विकल्प है  यदि सीमा की दीवार के लिए धन आंवटित नहीं करते तो वह आपातकाल लागू कर सकते है।

इसके साथ ट्रंप ने देश मे ‘वास्तविक आव्रजन सुधार’ की आवश्यकता की बात की औक तर्क दिया कि विश्वभर से प्रतिभाशाली लोगों को तलाश कर रहीं अमेरिकी कंपनियों की प्रगति के लिए यह अहम है।’हम देश में वास्तविक आव्रजन सुधार देखना चाहते हैं क्योंकि हमें इसकी आवश्यकता है और यह अच्छी चीज होगी।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here