अमर भारती : फर्जी डिग्री रखने के आरोप में पाकिस्तान ने अपने देश के 16 पायलटों और 65 केबिन क्रू का लाइसेंस निलंबित कर दिया गया है। पाकिस्तान के नागरिक उड्डयन नियामक ने बुधवार को इस बात की जानकारी दी है। नियामक ने बताया कि पाकिस्तान में कार्यरत विभिन्न एयरलाइन्स के 16 पायलटों और 65 केबिन क्रू के लाइसेंस निलंबित कर दिए हैं।

डॉन में छपी रिपोर्ट के मुताबिक नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएए) ने पायलटों और विभिन्न एयरलाइंस के अन्य कर्मचारियों के डिग्री के सत्यापन से संबंधित एक मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट को यह जानकारी दी गई।

सीएए के वकील ने मुख्य न्यायाधीश साकिब निसार की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ को बताया कि नियामक ने 6 अधिकारियों को छोड़कर (जो अभी विदेश में हैं) सभी एयरलाइन कर्मचारियों की डिग्री के सत्यापन की प्रक्रिया पूरी कर ली है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि सत्यापन प्रक्रिया के दौरान 16 पायलट और 65 केबिन क्रू की डिग्री फर्जी निकली। जिसके बाद इन सदस्यों के लाइसेंस निलंबित कर दिए गए। सुनवाई के दौरान, मुख्य न्यायाधीश ने कहा की एक धारणा थी की अदालत के आदेशों के कारण अधिकारी इस मामले में जल्दबाजी में काम कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि हम किसी की आजीविका को प्रतिबंधित नहीं करना चाहते हैं, लेकिन कर्मचारियों का रिकॉर्ड सही होना चाहिए। इसलिए एयरलाइन कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है।

दिसंबर में मामले की सुनवाई के दौरान, सीएए ने शीर्ष अदालत को सूचित किया था कि पाकिस्तान के राष्ट्रीय वाहक, पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) के 7 पायलटों की शैक्षणिक डिग्री फर्जी पाई गई थी। नियामक ने बताया कि उनमें से 5 ने अपनी मैट्रिक परीक्षा पास नहीं की थी।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट