अमर भारती : मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले की लवकुशनगर अदालत में भगवान श्रीराम और लक्ष्मण को लेकर मंदिर के दो पुजारी पेशी करने पहुंचे तो लोग आश्चर्य में पड़ गए। भारत की अदालतों में अभी तक तो केवल राम मंदिर से संबंधित केस ही चलते थे लेकिन मंगलवार को कोर्ट में भगवान राम एवं लक्ष्मण की मूर्तियां पेशी के लिए अदालत में प्रस्तुत की गई।

भगवान राम और लक्ष्मण की ओर से न्यायालय के सामने एडवोकेट देवराज निगम ने पेशी दी। एडवोकेट देवराज निगम द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया कि लवकुशनगर अनुविभाग में थाना गौरिहार के गांव घटरा में स्थित राम जानकी मंदिर में 2016 में चोरी हुई थी। चोरों ने विराजमान भगवान राम एवं लक्ष्मण की मूर्तियां एवं चरण चौकी चुरा ली थीं।

थाना गौरिहार की पुलिस ने चुराई गई मूर्तियां व चरण चौकी को बरामद कर लिया था तथा अपराध धारा 457,380 के तहत दर्ज किया गया। बाद में लवकुशनगर न्यायालय में चालान पेश किया गया जिसमें प्रकरण क्रमांक 518/16 दर्ज किया गया। वहां से मूर्तियों को पुजारी बसंत लाल पाठक को दे दिया गया। मूर्ति लिए जाने के बाद पुजारी एवं गांववालों ने भगवान राम और लक्ष्मण की मूर्तियों को मंदिर में पुनः विराजमान कर दिया।

पेशी में कोर्ट द्वारा मूर्तियों को न्यायालय में तलब किए जाने के लिए आदेश दिया था। जिसकी वजह से मंगलवार को भगवान राम एवं लक्ष्मण की मूर्तियों को न्यायालय के समक्ष पेश किया गया।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here