अमर भारती : 2019 के वर्ष की शुरूआत नए उम्मीदों के साथ नए आशाओं के साथ आया है। आपको बता दें कि इस बार मकर संक्रांति अमृतसिद्धि, सर्वार्थसिद्धि और रवि योग में मनेगी। वहीं इस दिन अश्विनी नक्षत्र भी रहेगा, जो काफी बेहद मंगलकारी है।

14 जनवरी की रात 2:20 मिनट पर सूर्य के धनु से मकर राशि में प्रवेश करने से संक्रांति का पुण्यकाल 15 जनवरी को होगा। सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण होंगे और खरमास खत्म हो जाएगा। माना जा रहा है कि14 जनवरी को रात 2:20 बजे  सूर्य का मकर राशि में प्रवेश होना तय है।

जानकारी के मुताबिक मकर संक्रांति का पुण्यकाल 15 जनवरी को सूर्योदय से शुरु होगा। मकर संक्रांति पर अमृतसिद्धि व सर्वार्थसिद्धि योग सूर्योदय से 9.48 बजे तक ही रहेगा। और इस दिन रवियोग सूर्यास्त तक रहेगा।

यह त्योहार वैसे 14 जनवरी को मनाया जाता है, लेकिन इस बार यह पर्व 15 जनवरी को मनाया जाएगा। दरअसल, 15 जनवरी को सूर्योदय काल में सूर्य देव मकर राशि में स्थित होंगे, जिससे शास्त्रानुसार उदयकालीन तिथि की मान्यता के अनुसार 15 जनवरी को सूर्योदय से दोपहर तक स्नान, दान किया जाना पुण्यकारी होगा।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट