अमर भारती : देश और दुनियां में कई तरह की घटनाएं सामने आती रहती हैं जिनमें से कुछ रहस्यमयी भी होती हैं। लेकिन क्या आपने कभी पहाड़ों पर लटके मंदिर के बारे में। आज एक ऐसे रहस्यमयी मंदिर के बारे में आप को बताएंगे जो चीन के शांझी में हेंग माउंटेन पर स्थित है। ये एक ऐसा मंदिर है जो अजीबोगरीब तरीके से 1500 साल से एक पहाड़ी पर लटका हुआ है।

इस मंदिर के निर्माण कार्य की शुरुआत उत्तरी वेई साम्राज्य के अंत में लिओं रैन नाम के इंसान द्वारा की गई थी। पहाड़ियों पर बसे मंदिरों के बारे में अपने सुना भी होगा और बेशक दर्शन भी किए होंगे। लेकिन जिस मंदिर के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं वो विश्व के अद्भुत अजूबों में एक लटका हुआ मंदिर है।

इस मंदिर की मुख्य सहायक संरचना आधार स्तम्भ के भीतर छुपी हुई है। यह मठ छोटे कैनियन बेसिन में बना हुआ है और इमारत के शरीर प्रमुख शिखर सम्मेलन के तहत चट्टान के बीच से लटका हुआ है इसे हैंगिंग मॉनैस्ट्री के नाम से भी जाना जाता है।

इस मंदिर को पहाड़ी पर सुरक्षा की दृष्टि से बनाया गया था कि मंदिर बाढ़ से बारिश और तूफान से बचा रहे यह मंदिर केवल अपने स्थान ही नही बल्कि तीन चीनी पारंपरिक धर्म बुद्ध, ताओ और कंफुशिवाद के मिलाप के लिए भी जाना जाता है। चाइनीज आर्किटेक्चर का अध्ययन करने वाले लोगों के लिए ये एक प्रमुख जगह है।

मंदिर के करीब 40 अलग-अलग हॉल हैं और वे एक दूसरे से कनेक्टेड हैं। मंदिर में कई प्राचीन स्टैच्यू भी रखे गए हैं। चीन के डैटोंग क्षेत्र में यह मंदिर टूरिस्टों का प्रमुख आकर्षण केंद्र है। यहां पहुंचने का रास्ता लकड़ी और लोहे की सीढ़ियों से बना है। मंदिर के सबसे पास दटोंग शहर है, जो उत्तर-पश्चिम में 64.23 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है। इसके बाद तक़रीबन अगले 1400 वर्षो तक समय-समय पर मंदिर का पुनर्निर्माण किया गया था।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट