अमर भारती : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस बार कश्मीर राग तुर्की में भाषण दिया। उन्होंने पाकिस्तान के शांति पहल का जवाब नहीं देने का आरोप भी भारत पर लगाया। पाक पीएम ने यह भी कहा कि भारत में कुछ दिन में आम चुनाव हैं और इसलिए पाकिस्तान के खिलाफ लोगों को भड़काया जा रहा हैं।
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत पर फिर से द्विपक्षीय संवाद से बाहर जाने का आरोप लगाया है। पाक पीएम ने भारत पर शांति प्रस्तावों का जवाब नहीं देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि दो परमाणु सम्पन्न देशों के बीच किसी भी तरह की लड़ाई उनके लिए आत्मघाती साबित होगी और युद्ध किसी समस्या का समाधान नहीं है। 

कुछ महीनों में भारत में होने वाले लोकसभा चुनावों की धमक पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान तक सुनाई दे रही है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का कहना है कि भारत में आम चुनाव होना है यही कारण है कि लोगों को पाकिस्तान के खिलाफ भड़काया जा रहा है।

भारत में आम चुनाव होने के कारण पाकिस्तान के खिलाफ भड़काया जा रहा है। इमरान खान ने ये बात एक इंटरव्यू के दौरान कही, उन्होंने ये भी आरोप लगाया कि भारत द्विपक्षीय वार्ता से भाग रहा है।

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इमरान खान ने कहा है कि अगर दोनों देश आपसी मुद्दों में युद्ध से रास्ता निकालते हैं तो ये आत्महत्या जैसी बात होगी।क्योंकि दोनों ही देश परमाणु शक्तियों से संपन्न हैं। उन्होंने ये भी कहा कि दोनों देश अब शीत युद्ध बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं।

आपको बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पिछले सप्ताह दो दिनी दौरे पर तुर्की में थे। उन्होंने दावा किया कि भारत आ रहे आम चुनाव की वजह से कई बार द्विपक्षीय बातचीत से बाहर चला गया।

उन्होंने कहा, “भारत ने कहा कि अगर वह एक कदम लेते हैं तो हम दो कदम लेंगे..लेकिन उसने पाकिस्तान की तरफ से बातचीत की पेशकश को कई बार खारिज कर चुका है।”

कश्मीर मुद्दे पर बातचीत करते हुए इमरान खान ने क्षेत्र में मानवाधिकार उल्लंघन के लिए भारत की निंदा की। इमरान ने कहा, ‘वह कश्मीरियों के आजादी के इंकलाब को दबाने में कभी सफल नहीं होंगे।’ इमरान ने हालांकि यह भी कहा कि कश्मीर के मसले का हल दो पड़ोसियों के बीच बातचीत से ही निकल सकता है।

हाल ही में हुए करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के दौरान भी इमरान खान ने भारत पर बातचीत को आगे ना बढ़ाने का मामला उठाया था। गौरतलब है कि भारत ने पाकिस्तान को लेकर अपना रुख साफ किया हुआ है कि आतंकवाद और बातचीत एक साथ नहीं हो सकते हैं।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here