अमर भारती : संसद का शीतकालीन सत्र सरकार के लिए काफी मुश्किलों भरा रहा है। इस बार के सत्र में में पेश होने वाले बजट सत्र की तारीख तय हो गई है। यह फेसला संसदीय मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीपीए) की बैठक में लिया गया है कि अंतरिम बजट 1 फरवरी को पेश किया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से 13 फरवरी तक चलेगा।

इस बार का यह बजट मोदी सरकार का आखिरी बजट होगा क्योंकि 2019 लोकसभा चुनाव काफी नजदीक है। ऐसे आस लगाए जा रहे हैं कि वित्त मंत्री अरुण जेटली देशवासियों को कई सौगातों की घोषणा कर सकते हैं। पिछले बार 2018 का बजट सत्र 29 जनवरी से 6 अप्रेल तक चला था। 2018 के बजट सत्र को दो चरणों में पेश किया गया था। जिसमें पहला चरण 29 जनवरी से 9 फरवरी तक और दूसरा चरण 5 मार्च से 6 अप्रैल तक चला था। वित्त मंत्री अरुण जेटली छठी बार संसद में बजट पेश करेंगे।

 

इस बार के शीतकालीन सत्र में भी सरकार सामान्य वर्ग के गरीब लोगों के लिए 10 फीसदी आरक्षण से जुड़ा संविधान संशोधन बिल लेकर आई है जिसे लोकसभा से पारित होने के बाद राज्यसभा की मंजूरी का इंतजार है।

इस बार के बजट सत्र में सरकार अन्य लंबित विधेयकों को पारित कराने की पूरी कोशिश करेगी। हालांकि चुनाव से ठीक पहले होने वाले इस सत्र में विपक्ष के भी अपने मुद्दे होंगे जिनपर हंगामा होने के आसार हैं।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here