अमर भारती : गोकशी के नाम पर हुई बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हिंसा के बाद से ही आरोपी योगेश हिंसा फरार चल रहा था। पुलिस के मुताबिक बुलंदशहर हिंसा का मुख्य आरोपी योगेश राज बीते 3 दिसंबर से ही फरार चल रहा था। बताया जा रहा है कि वह अपने आकाओं के संपर्क में भी था पर पुलिस का उसका पता नहीं लगा पा रही थी। बीती रात पुलिस को जानकारी मिली कि आरोपी योगेश बुलंदशहर के खुर्जा आने वाला है।

सूचना मिलते ही बीबीनगर थानाध्यक्ष पुलिस फोर्स लेकर खुर्जा बुलंदशहर बाईपास पर स्थित ब्रह्मानंद कॉलेज के पास पहुंचे। वहां टी-प्वाइंट के पास से रात करीब 11.30 बजे पुलिस ने योगेश को गिरफ्तार किया । फिलहाल इस वक्त पुलिस योगेश से पूछताछ कर रही है।

योगेश पर आरोप है कि उसने 3 दिसंबर के दिन गोकशी की बात फैलाई और सैकड़ों की भीड़ जुटाई थी। जिसके बाद हिंसा भड़क गई जिसमें इंस्पेक्टर सुबोध और सुमित नाम के स्थानीय शख्स की मौत हो गई।

सूत्रों के मुताबिक स्याना हिंसा मामले में दो नामजद आरोपियों ने बुधवार को सीजेएम की अदालत में सरेंडर कर दिया था। कोर्ट ने दोनों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। मामले में अब तक 13 नामजद समेत 32 आरोपी सलाखों के पीछे पहुंच चुके हैं।

बता दें कि हालांकि बवाल के एक माह पूरे होने के बाद भी 12 नामजद अब भी पुलिस की पकड़ से दूर हैं। बीते तीन दिसंबर को स्याना कोतवाली के चिंगरावठी चौकी क्षेत्र में गोकशी के बाद हुए बवाल में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार और युवक सुमित की गोली लगने से मौत हो गई थी।

मामले में 27 नामजद और करीब 60 अज्ञात आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई थी। चांदपुर पूठी गांव निवासी सतीश कुमार और महाब के रहने वाले विनीत कुमार ने बुधवार को सीजेएम के समक्ष सरेंडर कर दिया। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि मामले में फरार चल रहे आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस लगातार सक्रिय है। जल्द ही अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here