अमर भारती : बुलंदशहर में गोकशी के नाम पर हुए हिंसा मामले में पुलिस ने बृहस्पतिवार को इंस्पेक्टर सुबोध कुमार और सुमित की हत्या का एक अहम खुलासा किया है। हिंसा में इंस्पेक्टर को गोली मारने वाले युवक प्रशांत नट को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है। सूत्रों के मुताबिक, आज पुलिस आरोपी युवक को कोर्ट में पेश कर सकती है। पुलिस का कहना है कि इंस्पेक्टर ने अपने बचाव में गोली चलाई थी, गाली लगने से सुमित की मौत हो गई। अभी इस मामले में योगेश राज समेत 15 नामजद आरोपी पुलिस कि गिरफ्त से बाहर हैं।

बुलंदशहर के स्याना की चिंगरावठी चौकी पर हुए हिंसा को लेकर पुलिस ने बृहस्पतिवार को खुलासा कर दिया। पुलिस का कहना है कि स्याना इंस्पेक्टर को चिंगरावठी निवासी युवक प्रशांत नट ने ही गोली मारी थी। बताया जा रहा है कि प्रशांत नट घटना के बाद अपने परिवार के साथ फरार हो गया था।

पुलिस ने प्रशांत नट को बुलंदशहर-नोएडा बार्डर से वीरवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस आरोपी को लेकर मौके पर पहुंची और सीन रीक्रिएट किया गया। इस दौरान घटना वाले दिन मौके पर मौजूद दो गवाहों ने भी उसकी पहचान की है।

इंस्पेक्टर की हत्या के वक्त मौके पर आरोपी प्रशांत के साथ राहुल, डेविड, जॉनी, कलुआ और दो-तीन अन्य आरोपी व दो प्रत्यक्षदर्शी मौजूद थे। पूछताछ के दौरान सामने आया है कि आरोपी कलुआ ने इंस्पेक्टर के सिर पर कुल्हाड़ी से वार किया था। खुद को बचाने के लिए खेत में भाग रहे इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर मृतक सुमित ने दो-तीन पत्थर भी फेंके थे।

जिसमें से एक पत्थर इंस्पेक्टर के चेहरे पर लगा और वह गिर गए। इस दौरान इंस्पेक्टर ने अपने बचाव में फायरिंग की थी, जिसमें एक गोली सुमित को लगी थी। इसके बाद मौजूद अन्य आरोपी सुमित को वहां से ले गए थे जिस दौरान उसकी मौत हो गई थी।

जिसके बाद करीब दस मिनट बाद आरोपी जॉनी, राहुल, डेविड वापस लौटे और प्रशांत वहां दूसरे रास्ते पर पहले से ही मौजूद था। इंस्पेक्टर को दो ग्रामीण अपने साथ गांव की तरफ बचाने के लिए ले जा रहे थे। तभी पीछे से आए प्रशांत ने इंस्पेक्टर को दबोच कर गिरा दिया था। साथ ही इंस्पेक्टर की पिस्टल छीन कर आंख के पास गोली मार दी थी। 

इस घटना के दौरान इंस्पेक्टर पर सबसे पहले आरोपी कलुआ ने कुल्हाड़ी से वार किया था। सुमित ने पत्थर फेंके थे, जिसमें इंस्पेक्टर खेत में गिर गए थे। इंस्पेक्टर ने बचाव में गोली चलाई तो एक गोली सुमित को लगी थी, जिस वजह से उसकी मौत हो गई थी।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से: 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here