अमर भारती : महाराष्ट्र की पुलिस ने वाकोला इलाके से एंटी-नारकोटिक्स सेल की टीम ने 100 किलो फेंटानिल नाम के खतरनाक सिंथेटिक ड्रग को चार लोगों से जब्त किया है। अंतरराष्ट्रीय बाजार की कीमत के हिसाब से ये ड्रग्स 1 हजार करोड़ रुपये का है।

बता दे इसे बेचने की फिराक में आरोपी विदेश जाने की तैयारी में थे, लेकिन इसके पहले ही एंटी-नारकोटिक्स ने उन्हें मौके पर धर दबोचा। नारकोटिक्स विभाग के अनुसार, पकड़े गए आरोपियों में सलीम बोला(52), घनश्याम सरोज (43), चंद्रमणि तिवारी (41) और संदीप तिवारी शामिल हैं।

सूत्रों के मुताबिक यह सभी आरोपी फेंटानिल को ड्रम में छिपा कर ड्रग्स को दूसरे देशों में बेचने की फिराक में थे। बताया जाता है कि फेंटानिल इतनी खतरनाक है कि इसकी महज 0.002 ग्राम (2 मिलीग्राम) मात्रा ही किसी की जान ले सकती है और इसका इस्तेमाल पेन किलर बनाने में भी किया जाता है।

एंटी-नारकोटिक्स के एक अफसर ने बताया कि यूरोप और यूएस में म्याऊ-म्याऊ और एमकैट ड्रग से भी इसे खतरनाक माना जाता है। इसके अलावा इसे चाइना वाइट, क्रश, डांस फीवर, चाइना गर्ल अपाचे, टांगो कैश, चाइना टाउन, फ्रेंड फीवर, ग्रेट बियर और मर्डर के नाम से भी जाना जाता है।

गुजरात और महाराष्ट्र बॉर्डर पर बनने वाला फेंटानिल ड्रग्स वापी, पालघर और उमरगांव में इसे खुफिया तरीके से तैयार किया जाता है। भारत से इसकी सप्लाई बड़े पैमाने पर होती है।
इससे पहले अमेरिका ने भारत को चिट्ठी लिखकर इस तरह के नशीले पदार्थों पर रोक लगाने की बात कही थी, क्योंकि अमेरिका में 2016 में इसके ओवरडोज से 20 हजार और 2017 में 29 हजार लोगों की जान जा चुकी है।

ऐसा पहली बार नहीं हुआ जब फेंटानिल भारत में मिला हो, इसके पहले भी मध्य प्रदेश, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश और गुजरात में इसे बड़ी तादाद में जब्त किया जा चुका है। खबर के अनुसार कोर्ट ने आरोपियों को 1 जनवरी तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया है।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here