अमर भारती : अल-अजीजिया भ्रष्टाचार मामले में पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को भ्रष्टाचार रोधी कोर्ट ने 7 साल की सजा सुनाई गई है पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को एक और बड़ा झटका लगा है। जबकि फ्लैगशिप इन्वेस्टमेंट मामले में सबूतों की कमी के कारण उन्हें बरी कर दिया गया है।

खबर है कि इसके अलावा उन पर 2.5 Million Dollar का जुर्माना भी लगाया गया है नवाज शरीफ को कोर्ट के अंदर ही गिरफ्तार किया गया है। उन्हें कोटलखपत जेल भेजा जाएगा।

बता दें कि नवाज शरीफ इससे पहले ही भ्रष्टाचार के मामले में सजा काट रहे हैं, पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें प्रधानमंत्री पद से बर्खास्त कर दिया था। नवाज शरीफ पर फैसले से पहले कोर्ट के बाहर भारी हंगामा हुआ। नवाज शरीफ के समर्थकों की वहां मौजूद पुलिस के साथ भिड़ंत हो गई हैं। इस बीच पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी दागे।

यह भी देखें

भ्रष्टाचार रोधी अदालत के जज मोहम्मद अरशद मलिक ने आज इस्लामाबाद की कोर्ट में फ्लैगशिप इन्वेस्टमेंट और अल-अजीजिया मामले पर अपना फैसला सुनाया। फैसले से पहले ही नवाज शरीफ रविवार को इस्लामाबाद पहुंच गए थे। पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने नवाज शरीफ पर चल रहे मामलों पर सोमवार तक फैसला सुनाने की डेडलाइन तय की थी।

यदि आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से: 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here