अमर भारती :  राजस्थान में कांग्रेस पार्टी की शानदार जीत हुई है। लेकिन मुख्यमंत्री कौन बनेगा? यह समर्थकों के लिए सवाल बना हुआ है। मुख्यमंत्री पद के लिए दो नेताओं के नाम अशोक गहलोत और सचिन पायलट हैं। समर्थक अपने अपने नेताओं को मुख्यमंत्री पद दिलाने की मांग कर रहे हैं।

सचिन पायलट के एक समर्थक ने खून से एक चिट्ठी लिखी है। इसमें उन्होंने पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की अपील की है। राहुल गांधी को संबोधित करते हुए इस चिट्ठी में पायलट के समर्थकों ने कहा कि हम सभी राजस्थान के युवाओं की ओर से विनम्र अपील करते हैं कि राजस्थान में पिछले 5 साल से सचिन पायलट ने अपना खून पसीना बहाकर संघर्ष किया है, उनका संघर्ष हम बेकार नहीं जाने देंगे।

राजस्थान में सीएम को लेकर पार्टी में मतभेद चल रहा है। इस बीच विधायक दल का नेता चुनने के लिए केंद्रीय नेतृत्व द्वारा भेजे गए पर्यवेक्षकों की निगरानी में बैठक हो रही है। इधर राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि सीएम कौन होगा, इसका फैसला हाईकमान करेगा। राज्य में युवा मुख्यमंत्री के सवाल पर पायलट ने कहा कि भारत युवाओं का देश है। लेकिन जिन लोगों ने दशकों तक पार्टी की सेवा की उनके अनुभव का लाभ लेना भी युवाओं की जिम्मेदारी है।

कांग्रेस महासचिव ‘अशोक गहलोत’ ने कहा कि आज शाम को तय हो जाएगा कि राजस्थान का मुख्यमंत्री कौन बनेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पर्यवेक्षक ‘अविनाश पांडे’ और ‘केसी वेणु गोपाल’ जयपुर आ चुके हैं। और लगातार विधायकों से मिल रहे हैं। हालांकि सीएम पद की रेस में पूर्व मुख्यमंत्री ‘अशोक गहलोत’ आगे चल रहे हैं। लेकिन इस मामले में वे कुछ भी कहने से बच रहे हैं। 

राजस्थान में कांग्रेस विधायक दल की बैठक दो बार होगी। जयपुर में कांग्रेस मुख्यालय पर विधायक दल की पहली बैठक सुबह होगी, जिसमें पर्यवेक्षक के वेणु गोपाल मौजूद रहेंगे। विधायक दल की मंशा जानने के बाद वेणु गोपाल अपनी रिपोर्ट आलाकमान को भेजेंगे। इसके बाद एक बार फिर शाम को विधायक दल की बैठक होगी जिसमें नेता चुनने की औपचारिकता पूरी की जाएगी। अटकले ये लगाई जा रही है कि इस बैठक के बाद मुख्यमंत्री पद के लिए नाम का खुलासा भी हो सकता है।


आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here