अमर भारती : बीते शुक्रवार को राजस्थान और तेलंगाना में मतदान खत्म हो चुका है। मतदान खत्म होते ही तमाम न्यूज चैनल और एजेंसियों में एग्जिट पोल के नतीजों का सिलसिला शुरू हो गया। सभी पांचो राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग पूरी हो चुकी है। बीजेपी के लिए ये चुनाव बेहद अहम हैं क्योंकि इसी के आधार पर वह 2019 लोकसभा चुनाव में अपना दम दिखा पाएगी।

पांच राज्यों मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम में हुए चुनाव को लेकर हुए एग्जिट पोल ने 11 दिसंबर को आने वाले नतीजों को लेकर सस्पेंस और दिलचस्पी को और बढ़ा दिया है। चुनाव प्रक्रिया खत्म होने के बाद अब उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद है। तमाम न्यूज चैनलों के एग्जिट पोल ने इस बात के  दे दिए हैं कि किस राज्य में कौन सी पार्टी बहुमत में आएगी और कौन सी पार्टी सत्ता से बेदखल होगी।

 

मध्य प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस के बीच मुकाबला नजदीकी का दिख रहा है। एग्जिट पोल के मुताबिक मध्य प्रदेश राज्य की 230 सीटों में से भाजपा को 110 सीटें मिलती दिख रही हैं। तो कांग्रेस को 109 सीटें मिल सकती हैं. जबकि बीएसपी के खाते में दो और अन्य के खाते में 9 सीटें जा सकती हैं। अन्य संस्थानों के मुताबिक बीजेपी को 106, कांग्रेस को 112 और बीएसपी को 4 सीटें मिल सकती हैं। इंडिया टुडे-एक्सिज माई इंडिया के एग्जिट पोल के मुताबिक मध्य प्रदेश में बीजेपी को 102-120 के आसपास सीटें मिल सकती हैं. तो दूसरी तरफ, कांग्रेस के खाते में 104-122, बीएसपी के खाते में 1-3 और अन्य के खाते में 3-8 सीटें जा सकती हैं।

राजस्थान में एग्जिट पोल की माने तो इस प्रदेश में अधिकांश एक्जिट पोल के परिणामों में भाजपा सरकारी की विदाई का अनुमान जताया जा रहा है। एग्जिट पोल की मानें तो राजस्थान में कांग्रेस वापसी करती दिख रही है। एग्जिट पोल्स के मुताबिक, राजस्थान में इस बार कांग्रेस का राजतिलक होना तय माना जा रहा है। राजस्थान में कांग्रेस को 110 सीटें मिलती दिख रही हैं, भाजपा को 78 सीटें।राजस्थान में बहुमत के लिए 100 सीटों की जरुरत है। ऐसे में एग्जिट पोल की भविष्यवाणी सही साबित होती है तो राजस्थान में कांग्रेस की जीत तय मानी जा रही है।

छत्तीसगढ़ मे भी भारतीय जनता पार्टी इस बार बुरी तरह फंस गई है। संस्थानों के अधिकांश एक्जिट पोल के मुताबिक बीजेपी कांग्रेस से एक सीट से पिछड़ती नजर आ रही है। एक्जिट पोल के परिणामों कि माने तो छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को 42 सीटें मिलती दिख रही हैं। वहीं भाजपा को 41 सीटें मिलने का अनुमान है। वहीं बसपा प्लस के खाते में 4 और अन्य के खाते में 3 सीटें जानें का अनुमान लगाया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में 15 साल के बाद एक बार फिर कांग्रेस सरकार बना सकती है।

तेलंगाना में एग्जिट पोल का आंकड़ कुछ और ही दिख रहा है। तेलंगाना में कांग्रेस गठबंधन और बीजेपी दोनों को बड़ा झटका मिला है। तेलंगाना में एग्जिट पोल्स की मानें तो टीआरएस फिर से वापसी कर सकती है। टीआरएस को 67 सीटें, कांग्रेस को 39 और बीजेपी को 5 सीटें मिलती दिख रही है। वहीं अन्य के खाते में 8 सीटें गई हैं। बता दें कि यहां बहुमत के लिए 60 सीटों की जरूरत होती है और कुल विधानसभा सीटों की संख्या 119 है।

मिजोरम में एग्जिट पोल का आंकड़े बीजेपी को बहुत बड़ झटका दे सकते हैं। एग्जिट पोल की मानें तो मिजोरम में बीजेपी को एक भी सीट नहीं मिली है। संस्थानों के अधिकांश एक्जिट पोल के मुताबिक एमएनएफ को 18, कांग्रेस को 16 और अन्य को 6 सीटें मिल सकती हैं. बीजेपी को एक भी सीट मिलती नहीं दिख रही है। मिजोरम के पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले इस बार मतदातोओं की संख्या में गिरावट देखने को मिली है। पिछले चुनाव में 83.4 फीसदी वोटिंग हुई थी और इस चुनाव में 75 फीसदी मतदाताओं ने ही वोट डाला है। मिजोरम में कांग्रेस 2008 से सत्ता में है। और अगर एग्जिट पोल्स की मानें तो मानें तो कांग्रेस इस बार भी मिजोरम में सरकार बना सकती है।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here