अमर भारती: राजस्थान में बाजेपी के लिए मुसीबते थमने का नाम नहीं ले रही है। पहले अलग अलग चैनलों के एग्जिट पोल ने बीजेपी की नींद उडा दी, अब बीजेपी प्रत्याशी के घर से ईवीएम मशीन मिलने से हडकंप मच गया है। यह खबर फैलते ही निर्वाचन आयोग की चुनाव प्रकिया पर सवाल उठने लगे है।

निर्वाचन आयोग ने राजस्थान विधानसभा 2018 की पाली सीट के रिटर्निंग अधिकारी को हटाने का आदेश दिया है। बीजेपी के एक उम्मीदवार के घर में कथित तौर पर ईवीएम पाए जाने के बाद यह कार्रवाई की गई। इससे पहले दिन में निर्वाचन आयोग ने कहा था कि एक सेक्टर अधिकारी ईवीएम मशीन लेकर भाजपा उम्मीदवार के घर गया था जिसके बाद सेक्टर अधिकारी को हटा दिया गया और संबंधित ईवीएम को चुनाव प्रक्रिया से बाहर कर दिया गया।

निर्वाचन आयोग ने पाली के रिटर्निंग अधिकारी महावीर को भी हटाने का आदेश दिया। वहीं जोधपुर के राकेश को कार्यभार संभालने का आदेश दिया गया। बीजेपी उम्मीदवार के घर में कथित तौर पर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन रखे होने वाला वीडियो वायरल हो गया है।

वही दूसरी तरफ शाहाबाद थाना क्षेत्र के मुगावली रोड पर एनएच 27 पर एक सीलबंद ईवीएम लावारिस हालत में गिरा मिला। मतदान के बाद ईवीएम को सील कर दिया गया था, हालांकि उसके साथ किसी तरह की छेड़खानी की कोई खबर नहीं है। लावारिस हालत में सड़क पर ईवीएम मिलने की खबर के बाद शाहबाद थाना अधिकारी नारायण राम मौके पर पहुंचे और ईवीएम को कब्जे में ले लिया।

बता दें, राजस्थान में विधानसभा के लिए शुक्रवार को हुए मतदान में 74 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। दो तीन छोटी मोटी घटनाओं को छोड़कर प्रदेश में मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा। मतदान के आंकड़े में अभी बदलाव हो सकता है। चुनाव आयोग ने कहा कि 74.02 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। यह पिछले विधानसभा चुनाव में हुए 75.23 फीसदी मतदान से थोड़ा ही कम है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here