अमर भारती : बुलंदशहर हिंसा को आज 3 दिन हो चुके है लेकिन प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस हिंसा पर कोई भी बयान नही दिया है, हालांकि आज सीएम योगी आदित्यनाथ ने शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के परिवार वालो से उनके सरकारी आवास पर मुलाकात की।

इसी बीच बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज सिंह के बचाव में वहा के स्थानीय बीजेपी सांसद भी उतर आए है। बुलंदशहर से सांसद भोलूराम का कहना है कि वह कोई भी निर्णायक कदम तब उठाएंगे जब घटना से जुडे सभी तथ्य सामने आ जाएंगे। सांसद का कहना था कि गोकशी के लिए कडे कानून का समर्थन करना अपराध नही है। वह एक अच्छा काम कर रहे थे जो आंखे खोल देने वाला है।

वही विश्व हिंदू परिषद के महासचिव सुरेंद्र जैन और बजरंग दल के मेरठ डिविजन के प्रमुख बलराज डूंगर ने भी योगेश राज का समर्थन किया। पीटीआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पश्चिमी यूपी के सह संयोजक प्रवीण भाटी ने कहा है कि योगेश राज को सरेंडर कर देना चाहिए, हालंकि प्रवीण भाटी का कहना है इस जांच को बड़ी एजेंसी द्वारा करवाना चाहिए और हो सके तो ये जांच सीबीआई से करवानी चाहिए।

बता दें, बुलंदशहर में तीन दिन पहले गोवंश के अवशेष की खबर मिलने के बाद यहां स्थानीय लोगो की मदद से मुख्य आरोपी योगेश राज ने हिंसा को अंजाम दिया। फिलहाल योगेश राज पुलिस के शिकंजे से दूर है। लेकिन योगेश यादव ने एक वीडियो बनाकर खुद को निर्दोश बताया है और कहा है कि हिंसा के वक्त वो घटनास्थल पर मौजूद नही था। हालंकि एफआईआर के मुताबिक योगेश ने सात लोगों को गोकशी करते देखा था, और जब योगेश ने शोर मचाया तो सारे अपराधी भाग गए थे।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-