अमर भारती देश और दुनियां के हर समाज में लोगों का धनवान होने का होता है। हर ऐस और आराम के लिए हर प्रयास और महनत भी करते हैं। लेकिन अपने फायदे के लिए किसी की हत्या कर देना यह शर्मनाक बात है। वहीं आज के समय में लूटपाट .चोरी. हत्या  लोगों के लिए आम बात हो गई है। इस बात का अनुमान हिमाचल प्रदेश के नाहन में 19 नवंबर की रात को घटी घटना से लगाया जा सकता है।

आरोपी आकाश पंजाब के डेरा बस्सी और जीरकपुर में रियल एस्टेट के कारोबार से जुड़ा है। आरोपी आकाश जीवन बीमा की 50 लाख रुपये की राशि हड़पने के लिए अपने वफादार नौकर को पहले नशा कराया फिर कार में बिठाकर नहान के समीप काला अंब नामक जगह पर ले जा कर कार सहित जिंदा जला दिया आरोपी आकाश अपनी बेटी को पढ़ने के लिए विदेश भेजना चाहता था। जिसके लिए उसने अपनी का मौत का ड्रामा रचा और हत्या जैसी घटना को अंजाम दिया।

इस हत्याकांड से पर्दा तब उठा जब आरोपी की पत्नी और भतीजा उसके डेथ सर्टिफिकेट हासिल करने के लिए पुलिस पर दबाव बनाने लगे। इस बीच हत्या का शिकार हुए राजू के परिचितों ने भी उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट पुलिस में दर्ज करवा दी थी। इसके चलते पुलिस ने शक के आधार पर आरोपी के भतीजे रवि को पुलिस ने गिरफ्तार कर कड़ाई से पूछताछ की तो उसने सच बता दिया।

उसने बताया कि वो नेपाल भागने के लिए तैयार था उसने यह भी बताया कि  उन्होंने कार में आग लगाने के बाद खुद ही उसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल किया था। ताकि किसी को शक ना हो लोग अपनी जान बचाने के लिए दूसरों की हत्या तक कर देते हैं।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-