अमर भारती : सिंध प्रांत के सिंधु नदी किनारे स्थित सुक्कूर शहर में 200 से ज्यादा हिंदू तीर्थयात्री बुधवार को पहुंचे। 5 से 16 दिसंबर से शिव अवतारी शदाराम साहिब की 310वीं जयंती पर आयोजित होने वाले  धार्मिक कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के लिए 200 से ज्यादा हिंदू तीर्थयात्री मीरपुर मथीलू पहुंच चुके है। भारत की सीमा के पास स्थित करतारपुर गुरुद्वारे के लिए कॉरिडोर निर्माण का शिलान्यास करने के बाद पाकिस्तान ने अब 220 हिंदू तीर्थयात्रियों का वीजा जारी किया है।

पाकिस्तान उच्चायोग ने 220 हिंदू श्रद्धालुओं को समारोह में शामिल होने के लिए वीजा जारी कर कहा “पीपल-टु-पीपल एक्सचेंज और धार्मिक यात्राओं को बढ़ावा देने के अपने प्रयासों के तहत पाकिस्तान सरकार की ओर से ये वीजा जारी किया गया है। पाकिस्तान सरकार के इस फैसले से यह भी पता चलता है कि पाकिस्तान सरकार पूरे भरोसे के साथ धार्मिक यात्राओं को लेकर तय हुए प्रोटोकॉल पर काम कर रही है।

नवंबर में भारत और पाकिस्तान ने ऐतिहासिक सिख गुरुद्वारे के लिए कॉरिडोर बनाने पर सहमति जताई थी। 1974 में धार्मिक यात्राओं को लेकर पाकिस्तान-भारत के बीच तय हुए प्रोटोकॉल के तहत भारत के हिंदू और सिख तीर्थयात्री हर साल धार्मिक उत्सवों और आयोजनों में हिस्सा लेने के लिए पाक जाते रहे हैं।

300 साल पुराना मंदिर शादानी दरबार तीर्थ दुनिया भर के श्रद्धालुओं के लिए आस्था का केंद्र बना रहा है। यह हिंदू समुदाय के लिए पवित्र स्थल है। माना जाता है कि 1708 लाहोर में जन्में संत शदाराम साहिब ने 1786 में इस मंदिर की नींव रखी थी।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:- 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here