अमर भारती : अमित शाह चुनाव प्रचार के अंतिम दिन अपनी पार्टी के लिए जबरदस्त प्रचार कर रहें हैं। भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को राजस्थान में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि बीजेपी ने प्रचार के दौरान जनता के बीच अपनी बातों को रखा। राजस्थान और तेलंगाना में 7 दिसंबर को मतदान होना बाकी है।

2014 में केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार बनने के बाद जितने भी विधानसभा चुनाव हुए वहां बीजेपी ने अच्छा प्रदर्शन किया है। अमित शाह ने बताया की प्रधानमंत्री ने अब तक 13 रैलियां 38 कार्यक्रम किए हैं। वसुंधरा राजे ने भी 75 रैलियों को संबोधित किया है। उन्होंने कहा कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ समेत कई अन्य मंत्रियों ने कुल 222 रैलियां की और 15 रोड शो किए।

मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में मतदान के बाद अमित शाह ने सबसे ज्यादा राजस्थान और मध्य प्रदेश मे चुनाव प्रचार रैलियां की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की काफी सभाएं रणनीति के तहत चुनाव के आखिरी दौर में रखी गई। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की बात की जाए तो शाह ने पहले पार्टी की बिगड़ी हुई केमिस्ट्री को सुधारने के लिए नाराज नेताओं और कार्यकर्ताओं की नाराजगी दूर करने के लिए उन्हें चुनाव में जिम्मेदारी देकर उनकी नाराजगी को दूर करने काम किया।

अमित शाह चुनाव प्रचार रणनीति के माहिर खिलाड़ी हैं। शाह जानते हैं कि अपने नाराज कार्यकर्ताओं को कैसे मनाया जाता है। कार्यकर्ताओं को चुनाव में जिम्मेदारी देकर उनके महत्व को बरकार रखना शाह को अच्छी तरह से आता है।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:- 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here