अमर भारती:  पाकिस्तान भारत में आतंकी गतिविधियों पर रोक नहीं लगाएगा, तब तक कोई दि्वपक्षीय बातचीत नहीं होगी। सुषमा स्वराज ने कहा, ‘हम लोग पाकिस्तान की ओर से सार्क सम्मेलन के लिए भेजे गए न्योते पर सकारात्मक जवाब नहीं दे रहे  हैं। इसलिए भारत सार्क सम्मेलन में हिस्सा नहीं लेगा ‘करतारपुर कॉरिडोर पहल का पाकिस्तान के साथ बातचीत से कोई लेना-देना नहीं है।

पाकिस्तान जब भारत में आतंकवादी गतिविधियां बंद कर देगा तभी उससे बातचीत शुरू होगी। भारत इस कॉरिडोर की लंबे समय से मांग कर रहा था। जिससे भारतीय सिख श्रद्धालु बिना वीजा के करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब तक आ जा सकेंगे। विदेश मंत्री ने कहा कि उन्हें इस बात की खुशी है।

कि पाकिस्तान ने पहली बार सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है।’ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान बुधवार को अपने देश में इस कॉरिडोर की आधारशिला रखेंगे। इस कॉरिडोर के छह माह के भीतर पूरा होने की उम्मीद है। पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्‍यास के लिए पाकिस्‍तान गए हैं। केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी भी उद्धाटन समारोह में शामिल होंगे।

सिद्धू ने कहा, ‘दोनों देशों के बीच करतारपुर साहिब गुरुद्वारा कॉरिडोर को खोलने और विकसित करने के फैसले का पूरा श्रेय पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को जाता है। ‘पिछले पाकिस्तान यात्रा के दौरान पाकिस्तान आर्मी के चीफ कमर जावेद बाजवा से गले मिलने के बाद कांग्रेस को भी सफाई देनी पड़ी थी।

इसके बाद उन्होंने बातों ही बातों में राफेल डील का जिक्र कर मोदी सरकार पर भी निशाना साधा। पाकिस्तान आर्मी चीफ से गले मिलने पर बात करते हुए सिद्धू ने कहा कि, ‘वो तो सिर्फ कुछ सेकेंड की झलक थी। वो कोई राफेल डील नहीं थी। उन्होंने कहा कि, ‘जब दो पंजाबी मिलते हैं। तो ऐसे ही गले मिलते है। पंजाब में ये आम बात है।’

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:- 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here