अमर भारती : अगर आप प्रकृति के बारे में जानने की रुची रखते हैं। तो हम आपको कुछ एेसी खास जगहों के बारे में  बताने जा रहे हैं। जहां सदैव गर्म पानी निकलता है। यहां प्रकृति के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है। यह प्रकृति का खेल है। पनामिक नुब्रा बैली यह ग्लेशियर पर स्थित एक छोटा सा गांव है। जो लेह से कुछ दूरी पर स्थित है यहां की ऊंचाई समुद्र तल से 10442 फीट है।

यह जगह गर्म पानी के कुंड़ के लिए प्रसिद्ध है। साथ ही अपने औषधीय गुणों के लिए जानी जाती है। प्रथ्वी पर कई जगह भौगोलिक गतिविधियों के कारण गर्म पानी के कुंड़ और झरने पाए जाते हैं। जिन्हें हांट स्प्रिंग कहा जाता है। यह पानी बहुत लाभदायक होता है। जिसमें स्नान करने से चर्म रोग व अन्य परेशानियां ठीक हो जाती हैं। वहीं खीर गंगा के बारे में बताया जाता है। कि अखरा बाजार कुल्लू हिमाचल में स्थित जो कुंड़ है वहां पानी हमेशा गर्म रहता है।

ऐसा ही एक स्थान और हिमाचल में है। जो कुल्लू से 45 कि.मी दूर है। मणिकरण साहिब यह जगह हिंदू व सिखों के लिए आस्था का केन्द्र है। यहां एक प्रसिद्ध मंदिर भी है। और सिखों का प्रसिद्ध गुरुद्धारा भी है। गुरुद्धारे में प्रसाद के लिेए जो भी तैयार किया जाता है। वो यहां के कुंड़ के पवित्र जल द्धारा बनाया जाता है। तत्तापानी के नाम से भी एक स्थान गर्म पानी के लिए हिमाचल में जाना जाता है।

गौरी कुंड़ में वासु की गंगा केदारनाथ से वासुकी ताल होते हुए मंदाकिनी में मिलती है इस कुंड़ में भूकंप के बाद गर्म पानी नष्ट हो गया था गांव के माध्यम से एक धारा अभी बहती है। जो यमुनोत्री मंदिर के लिेए आकर्षण का केन्द्र है। युमथांग यह कुंड़ सिक्किम राज्य का सबसे प्रसिद्द माना जाता है। इसका तापमान 50 डिग्री रहता है। उधर सिक्किम राज्य का ही एक और कुंड़ जिसे ऋषि कुंड़ के नाम से जाना जाता यह एक पवित्र गुफा के पास है।

Comments are closed.