अमर भारती : राजस्थान विधानसभा चुनाव प्रचार में जुटे दिग्गज कांग्रेसी नेता सीपी जोशी को अपने एक बयान के लिए खेद जताना पड़ा है। ‘धर्म के बार में सिर्फ पंडित ही जानते हैं’ बयान देकर कांग्रेस के दिग्गज नेता सीपी जोशी विवादों में फंस गए हैं।

बता दें कि सीपी जोशी ने कहा है कि धर्म के बारे में कोई जानता है तो केवल पंडित जानते हैं।’ इसके साथ ही उन्होंने कहा, ‘उमा भारती एक लोधी हैं और वह हिंदू धर्म के बारे में बात करती हैं, मोदी जी हिंदू धर्म पर बात करते हैं। केवल ब्राह्मण हैं, जो इस बारे में बात नहीं करते। देश को गुमराह किया जा रहा है। धर्म और शासन दोनों अलग-अलग चीजें हैं। हर किसी को अपना धर्म मानने का अधिकार है।

जोशी के विवादित बयान के बाद राजनीति गरमा गई है और बीजेपी ने इस पर हमला तेज कर दिया। इस पर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस नेता का बयान चौंकाने वाला है। सीपी जोशी को धर्म के बारे में ऐसी बात नहीं करनी चाहिए।

कहा क्या था सीपी जोशी ने?

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 के प्रचार के दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता डॉ. सीपी जोशी ने भाजपा पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि उन्हें यह अधिकार किसने दिया कि वो बताएं कि कांग्रेसी हिंदू नहीं हैं। जोशी ने कहा कि अगर धर्म के बारे में कोई जानता है तो वो पंडित और ब्राह्मण ही हैं।

इस बयान को पार्टी के खिलाफ जाता देख कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सामने आना पड़ा और उन्होंने ट्वीट कर कहा कि जोशी जी का बयान कांग्रेस पार्टी के आदर्शों के विपरीत है और जोशी को खेद जताने को कहा।

उन्होंने ट्वीट किया, सीपी जोशी जी का बयान कांग्रेस पार्टी के आदर्शों के विपरीत है। पार्टी के नेता ऐसा कोई बयान न दें जिससे समाज के किसी भी वर्ग को दुःख पहुंचे. कांग्रेस के सिद्धांतों, कार्यकर्ताओं की भावना का आदर करते हुए जोशीजी को जरूर गलती का अहसास होगा। उन्हें अपने बयान पर खेद प्रकट करना चाहिए।

बयान पर खेद जताया

राहुल गांधी की ओर से खेद जताने को लेकर हिदायत देने के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री सीपी जोशी ने भी ट्वीट करते हुए अपने बयान पर खेद जताया। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस के सिद्धांतों एवं कार्यकर्ताओं की भावनाओं का सम्मान करते हुए मेरे कथन से समाज के किसी वर्ग को ठेस पहुंची हो तो मैं उसके लिए खेद प्रकट करता हूं।’

बता दें, सीपी जोशी को नाथद्वारा से चुनावी मैदान में उतारा गया है। राजस्थान की 200 विधानसभा सीटों के लिए 7 दिसंबर को चुनाव है। इसी दिन तेलंगाना में मतदान हैं। मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और मिजोरम के साथ इन दोनों राज्य के चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर को जारी किए जाएंगे।

यदि आप भी मीडिया क्षेत्र से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here