अमर भारती : अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के घने जंगलों में एक अमेरिकी टूरिस्ट की वहां के आदिवासियों ने हत्या कर दी। निकोबार के सेंटिनेल द्वीप में घुसने की मनाही के बावजूद यह पर्यटक मछुआरों की मदद से वहां जा घुसा था। रिपोर्ट्स के मुताबिक आदिवासियों ने टूरिस्ट पर तीरों से हमला किया, जिससे उसकी मौत हो गई।

बता दें कि अंडमान निकोबार के सुदूर सेंटिनल द्वीप पर आदिवासियों का यह बेहद विलुप्तप्राय समुदाय रहता है। इस समूह से मिलने की इजाजत किसी को नहीं है। पुलिस ने इस मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज कर 7 लोगों को गिरफ्तार किया है।सीआईडी के एसपी दीपक यादव के मुताबिक अमेरिकी नागरिक जॉन एलन चाऊ 16 अक्टूबर को अंडमान निकोबार पहुंचा था।

और उसने सेंटेनलीज आदिवासियों से मिलने की इच्छा जाहिर की। यह आदिवासी समूह बाहरी लोगों के साथ कोई संपर्क नहीं रखता और अपने पास आने वालों पर तीरों की बौछार कर देता है। 14 नवंबर को सात मछुआरों की मदद से चाऊ उस जंगल तक पहुंचा जहां यह आदिवासी समूह रहता है।

दीपक यादव के मुताबिक चाऊ जंगल में अंदर गया, चाऊ खुद को मछुआरों के भेष में छिपाना चाह रहा था, लेकिन जब वो और भीतर गया तब मछुआरे उनसे कुछ दूरी पर ही रहे। कुछ ही देर बाद एक मछुआरे ने उसके शव को देखा, जिसे आदिवासी दफना रहे थे। चाऊ की हत्या तीर से की गई थी।लेकिन उसके शव को वापस नहीं लाया जा सका।

नॉर्थ सेंटिनल आइलैंड पर इस रहस्यमय आदिम जनजाति का आधुनिक युग या इस युग के किसी भी सदस्य से कुछ भी लेना-देना नहीं है। इस जनजाति के लोग ना तो किसी बाहरी व्यक्ति के साथ संपर्क रखते हैं और ना ही किसी को खुद से संपर्क रखने देते हैं।

यदि आप भी मीडिया क्षेत्र से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-