अमर भारती : ग्रेटर नोएडा की शारदा यूनिवर्सिटी से लापता हुए कश्मीरी छात्र अहतेशाम बिलाल सोफी के आतंकी संगठन आईएसजेके में शामिल होने का दावा किया जा रहा है। हाल ही में सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई तस्वीरों में बिलाल आतंकी संगठन आईएसआईएस के झंडे के साथ काले कपड़ों में दिखाई दे रहा है।

17 वर्षिय श्रीनगर निवासी, अहतेशाम बिलाल सोफी ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर का छात्र है। 28 अक्टूबर को वह यूनिवर्सिटी से दिल्ली जाने की अनुमति लेकर गया था जिसके बाद वह लौटकर नहीं आया। यूनिवर्सिटी के अफसरों को रविवार रात हाजिरी के दौरान बिलाल के लापता होने की जानकारी मिली। इसके बाद अधिकारियों ने ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क पुलिस स्टेशन के साथ-साथ श्रीनगर के खानयार पुलिस स्टेशन में भी उसके लापता होने को लेकर मामला दर्ज कराया है। उत्तरप्रदेश पुलिस के साथ एटीएस ने भी मामले की जांच शुरू कर दी है।

आईजी एटीएस असीम अरुण ने बताया कि एहतेशाम बिलाल की असलहे के साथ तस्वीर शुक्रवार शाम सोशल मीडिया पर वायरल हुई। फोटो के साथ एहतेशाम ने आईएसजेके जॉइन करने की घोषणा की है। इस फोटो के बैकग्राउंड में आईएसआईएस का झंडा है।

लापता बिलाल की तलाश के दौरान यह सामने आया कि उसने लापता होने के बाद एयर टिकट तो लिया था, लेकिन उसने प्लेन से सफर नहीं किया। जिसके बाद उसकी लोकेशन जम्मू-कश्मीर में मिली, लेकिन वह घर नहीं गया।

थाना प्रभारी अरविंद पाठक ने बताया कि बिलाल के मोबाइल की आखिरी लोकेशन रविवार दोपहर 2.30 बजे श्रीनगर में मिली थी और पुलिस को शक है कि वह 10 बजे दिल्ली एयरपोर्ट से फ्लाइट लेकर श्रीनगर पहुंचा। उसने अपने पिता को 4.30 बजे आखिरी कॉल किया था। बिलाल की आखिरी लोकेशन दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में मिली जिसके बाद से उसका मोबाइल स्विच ऑफ है।

सुत्रों के मुताबिक, कुछ दिन पहले भारतीय और अफगानी छात्रों के झगड़े में गलती से उसकी पिटाई कर दी गई थी। वहीं बिलाल सोफी के साथियों ने बताया कि वह यूनिवर्सिटी के माहौल में खुद को ढाल नहीं पा रहा था।

यूनिवर्सिटी में उसके साथी चार अन्य कश्मीरी छात्रों से पूछताछ में उसके आतंकी संगठन में शामिल होने के सुराग मिले हैं। आईजी असीम अरुण ने शुक्रवार को बताया कि ग्रेटर नोएडा से लेकर श्रीनगर तक छात्र के बारे में जानकारियां जुटाई जा रही हैं। इसके लिए एजेंसी लगातार श्रीनगर पुलिस के संपर्क में है।

यदि आप भी मीडिया क्षेत्र से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-