अमर भारती: अमेरिका में भारतीयों के साथ भेदभाव करने के मामले अक्सर सामने आते रहते हैं। ताजा मामला वडोदरा के एक वैज्ञानिक का सामने आया है। वडोदरा के एक वैज्ञानिक करण जानी को अमेरिका के गरबा वेन्यू से सिर्फ इसलिए बाहर निकाल दिया क्योंकि उनका सरनेम नाम हिंदूओं जैसा नहीं था।

करण ने अपने फेसबुक और ट्विटर हैंडल पर ट्वीट कर पूरा मामला बताया है। घटना के बाद करण ने ट्वीट किया, अटलांटा स्थित गरबा वेन्यू से मुझे और मेरे तीन दोस्तों को महज इसलिए निकाल दिया गया क्योंकि मेरा सरनेम ‘हिंदुओं जैसे’ नहीं था।

उन्होंने लिखा, ‘मेरी कोंकणी दोस्त पहली बार गरबा में आई थी। उसे लाइन से बाहर कर बोला गया कि हम तुम्हारे इवेंट्स में नहीं आते हैं, इसलिए तुम हमारे इवेंट्स में नहीं आ सकती। मेरी दोस्त ने जब कहा कि मेरा सरनेम मुरदेश्वर है, मैं कन्नड-मराठी हूं। इस पर आयोजक बोला, कन्नड़ क्या होता है, तुम इस्माइली हो।’

29 साल के करण 2016 से अमेरिका में एक कंपनी में काम कर रहे हैं। इसी कंपनी ने गुरुत्वाकर्षण तरंगों की खोज की थी। करण ने बताया कि वो पिछले 6 सालों से इसी गरबा वेन्यू में जा रहे हैं लेकिन आज तक उन्हें कोई दिक्कत नहीं हुई।

उन्हें कभी भी ऐसी किसी चीज़ का सामना नहीं करना पड़ा। करण का आरोप है कि श्री शक्ति मंदिर के आयोजकों ने ढंग से उनकी बात तक नहीं सुनी और उन्हें वहां से बाहर निकाल दिया। ये सब मेरे लिए बेहद शर्मनाक था, मेरे आंखों में आंसू आ गए।

जानी ने लिखा, मैंने आयोजकों को गुजराती में भी समझाने की कोशिश की लेकिन उन्होंने हमारी बात नहीं सुनी और हमें अंदर जाने से मना कर दिया। मामला सामने आने के बाद करण के पिता ने इस पर प्रतिक्रिया दी है। न्यूज एजेंसी  से बात करते हुए करण के पिता पंकज जाने ने कहा, वालंटियर्स ने उसे रोका और उससे कहा कि वो हिंदू जैसा नहीं लगता है।

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि उसका सरनेम भी हिंदू जैसा नहीं है। उन्होंने उसकी आईडी तक चेक की लेकिन इन सबके बावजूद भी उसे वहां से जाने के लिए कह दिया। इन सबके बाद करण ने मुझे फोन किया था वो बहुत नर्वस लग रहा था।

हालांकि जानी ने बताया कि बाद में उन्हें मंदिर मैनेजमेंट की ओर से फोन आया और उन्होंने पूरी घटना पर खेद जताया और कहा कि वह इस तरह के भेदभाव में विश्वास नहीं रखता है। यह वॉलंटियर्स की गलती है।

यदि आप पत्रकारिता के क्षेत्र से जुड़ना चाहते है,तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here