अमर भारती : हिमाचल प्रदेश में पिछले कई दिनों से लगातार बारिश जारी है। जिसके चलते हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति में ट्रेकिंग के लिए आए लोगों के लापता होने की खबर सामने आई है और इनमें आईआईटी (रुड़की) के 35 छात्र भी शामिल हैं।

सूत्रों के मुताबिक लापता स्टूडेंट अंकित भाटी के पिता राजवीर सिंह ने बताया कि वे सभी हम्प्टा पास के लिए ट्रैकिंग पर गए थे और उन्हें मनाली लौटना था। इसके बाद उनकी अपने बेटे से बातचीत नहीं हुई तो वहीं केलांग के एसडीएम अमर सिहं का कहना है कि लाहौल-स्पीति जिले के कोकसर कैंप में 8 यात्रियों का ग्रुप सुरक्षित है।

वहीं कुल्लू, कांगड़ा और चंबा जिलों में भारी बारिश के चलते हादसों में 5 लोगों की मौत हो चुकी है, और कई लोगों के घायल होने की ख़बर सामने आई हैं। कुल्लू में 4 लोगों की और कांगड़ा जिले में एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है।

कांगड़ा, कुल्लू और हमीरपुर जिलों में सभी स्कूल बंद रखने की सूचना दी गई है। लगातार बारिश और भारी बर्फबारी की वजह से मौसम काफी खराब हो गया है। कई इलाको में पानी लबालब भर गया और बाढ़ जैसी स्थिति बन गई। खराब मौसम के कारण घूमने आए लोग भी वहां फंसे हुए है। सभी जगह हाई अलर्ट जारी कर दिया गया।

हिमाचल के वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर का कहना है कि लोगों को नदियों और नालों के करीब न जाने के निर्देश दिए गए हैं। कुल्लू में जिला प्रशासन ने हाई अलर्ट घोषित किया है। यहां शुरुआती अनुमान के मुताबिक 20 करोड़ की संपत्ति को नुकसान पहुंचा है।

बारिश के चलते कई घर गिर गए जिससे वहां के निवासियों को काफी नुकसान झेलना पड़ा। भूस्खलन की कई घटनाएं भी हुई।

वहां की नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया है। खबर आई है कि हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश की वजह से कांगड़ा जिले में ब्यास नदी पर बने पोंग बांध के गेट खोले जा सकते हैं।

अगर आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते हैं तो हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से संपर्क करें

यह भी देखें-

Comments are closed.