अमर भारती : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज संयुक्त राष्ट्र महासभा के 73वें सत्र में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए न्यूयॉर्क पहुंच गई हैं। वह इस दौरान अपने वैश्विक समकक्षों के साथ कई द्विपक्षीय और बहुपक्षीय बैठकें करेंगी। सुषमा यहां 29 सितंबर को महासभा को संबोधित करेंगी। स्वराज शनिवार को यहां पहुंचीं। वह पूरे सप्ताह संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र से इतर कई बैठकों और चर्चाओं में भाग लेंगी।

यह दौरा इसलिए भी खास है क्योंकि यहीं पर भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच द्विपक्षीय बैठक प्रस्तावित थी लेकिन सीमा पर बढ़ते तनाव के बाद उसे भारत सरकार की ओर से रद्द कर दिया गया था। इसी वजह से दोनों मुल्कों के बीच अब खट्टास बढ़ गई हैं।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘गंतव्य हैशटैग यूनएनजीए73 । भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज संयुक्त राष्ट्र के उच्चस्तरीय सेगमेंट के लिये न्यूयॉर्क पहुंचीं।’’ यहां आम चर्चा 25 सितंबर को शुरू होगी और संयुक्त राष्ट्र के 193 सदस्य देशों के नेता वैश्विक निकाय को संबोधित करेंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 25 सितंबर को दूसरी बार महासभा को संबोधित करेंगे।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘‘एक सप्ताह की व्यस्तता भरी कूटनीति के लिये मंच तैयार। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज संयुक्त राष्ट्र महासभा के 73वें सत्र में हिस्सा लेने के लिये न्यूयॉर्क पहुंचीं और वह कई द्विपक्षीय और बहुपक्षीय बैठकों में हिस्सा लेंगी।’’

इससे पहले, भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से इतर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और उनके पाकिस्तानी समकक्ष शाह महमूद कुरैशी के बीच बैठक के पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया था। हालांकि, भारत ने जम्मू-कश्मीर में तीन पुलिसकर्मियों की बर्बर हत्या और इस्लामाबाद के आतंकवादी बुरहान वानी का ‘महिमामंडन’ करते हुए डाक टिकट जारी करने का हवाला देते हुए बैठक को रद्द कर दिया था। कुरैशी 29 सितंबर की दोपहर संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे।

अगर आप पत्रकारिता जगत का हिस्सा बनना चाहते हैं तो हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट में संपर्क करें

यह भी देखें-