अमर भारती : भारत के किदांबी श्रीकांत शुक्रवार को तीन गेमों तक चले मैराथन क्वार्टर फाइनल में हार का सामना करना पड़ा, जिससे जापान ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती भी समाप्त हो गई। अन्य भारतीय खिलाड़ियों की तरह सातवें वरीय श्रीकांत भी थके हुए लग रहे थे।

वह 1 घंटे 19 मिनट तक चले मुकाबले में कोरिया के ली डोंग केयून के खिलाफ एक गेम की बढ़त गंवा बैठे, जिससे उन्हें 21-19 16-21 18-21 से पराजय मिली। पूर्व नंबर एक खिलाड़ी श्रीकांत ने गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीता था। पिछले दौर में उन्होंने हांगकांग के वोंग विंग कि विन्सेंट को सीधे गेम में हराकर एशियाई खेलों की हार का बदला चुकता किया था।

श्रीकांत के बाहर होने से भारतीय खिलाड़ियों का जापान ओपन में अभियान समाप्त हो गया। ओलंपिक पदकधारी और एशियाई खेलों की रजत पदकधारी पीवी सिंधु और एचएस प्रणॉय गुरुवार को क्रमश: महिला और पुरुष एकल में हारकर बाहर हो गए थे। पुरुष युगल में भी भारतीय खिलाड़ी आगे बढ़ने में असफल रहे। मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी की जोड़ी गुरुवार को प्री क्वार्टर फाइनल में पस्त हो गई थी। जिसके बाद जापान ओपन में भारतीय चुनौती खत्म हो गई।

अगर आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते हैं तो हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से संपर्क करें

यह भी देखें-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here