अमर भारती: अमेरिका के पूर्वी तटीय इलाके की ओर बढ़ रहे शक्तिशाली तूफान फ्लोरेंस थोड़ा कमजोर होकर श्रेणी दो में बंट गया है, हालांकि यह तूफान अभी भी जानलेवा बना हुआ है। पश्चिमी अटलांटिक महासागर से उठा यह तूफान गुरुवार को उत्तरी और दक्षिणी कैरोलिना के तट से टकरा सकता है। हालांकि, तूफानों पर नजर रखनेवाली अमेरिकी एजेंसी नेशनल हरिकेन सेंटर एनएचसी ने इसकी जानकारी दी है। इससे पहले यह आशंका जताई जा रही थी कि फ्लोरेंस श्रेणी चार का तूफान है, जिससे भारी तबाही होने की सम्भावना है। आपको बता दें, फ्लोरिडा राज्य के मियामी शहर में स्थित एनएचसी ने बताया कि फ्लोरेंस दक्षिण कैरोलिना के मर्टल बीच के पूर्वी-दक्षिण पूर्व से 520 किलोमीटर दूर है।

अभी भी हवाएं 175 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही है। वहीं एनएचसी ने कहा की तूफान उत्तर-पश्चिम की ओर 28 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है। इससे पहले फ्लोरेंस की पहचान श्रेणी 4 के तूफान के तौर पर की गई। श्रेणी 4 के तूफान में हवाएं 220 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलती हैं।  फ्लोरेंस तूफान की आशंका के मद्देनजर 10 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए कहा गया है। एनएचसी ने बताया कि तूफान फ्लोरेंस का केंद्र उत्तरी और दक्षिणी कैरोलिना के तट पर गुरुवार को पहुंचेगा। इसके बाद गुरुवार रात या शुक्रवार को यह उत्तरी कैरोलिना और दक्षिणी कैरोलिना के तट को पार कर आगे बढ़ेगा।

वर्जीनिया और कैरोलिना पर तूफान के खतरे को देखते हुए आपातकाल भी घोषित कर दिया गया है, साथ ही 10 लाख लोगों को चेतावनी जारी कर सुरक्षित जगहों पर जाने की सलाह दी गई है। गौरतलब है कि इनके सुरक्षित ठिकानों पर पहुंचने में 24 घंटे से भी कम समय बचा है। 10 लाख लोगों को ठहराने के लिए 100 शेल्टर होम बनाए है। साथ ही चार बड़ी जेलों को राहत कैंप में तब्दील किया गया है। वहीं तीव्रता के लिहाज से तूफानों को 4 श्रेणी में बांटा गया है। कैटगरी-4 यानी सबसे खतरनाक, जिसमें 200 किमी की रफ्तार से हवा चलती है। अमेरिका में साल 2005 में ऐसा ही तूफान आया था, जिसमें 1800 लोगों की जान चली गई थी। हरिकेन कटरीना श्रेणी-3 का था। इस बार हरिकेन फ्लोरेंस कैटेगरी-4 का माना गया था। लेकिन अभी यह कमजोर होकर श्रेणी-2 का हो गया है।

अगर आप पत्रकारिता जगत का हिस्सा बनना चाहते हैं तो हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट में संपर्क करें

यह भी देखें-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here