अमर भारती : बिहार में एक हफ्ते के भीतर फिर एक मॉब लिंचिंग का मामला सामने आया है। जहां भीड़ ने बिना कुछ सोचे समझे एक बेगुनाह युवक को पीट-पीटकर मार डाला। युवक अपनी दादी की बरसी के लिए सामान लेने सीतामढ़ी जा रहा था। इस मामले में पुलिस की बड़ी लापरवाही भी सामने आई है। फिलहाल, पुलिस ने 150 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। उसे पहले सदर अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे बाद में पटना मेडिकल कालेज एवं अस्पताल भेज दिया गया जहां बाद में उसने दम तोड़ दिया

दिल दहला देने वाली यह वारदात सीतामढ़ी की है। जहां बिहार में सुशासन फिर सवालों के घेरे में आ गया। युवक की पहचान सहियारा थाना क्षेत्र के सिगंहरीया गांव निवासी रूपेश कुमार झा पुत्र के भूषण झा के रूप में हुई है। रूपेश के चाचा सुनिल कुमार झा ने बताया कि कल उनकी मां की बरसी है।

उनका भतीजा उसी के लिए सामान खरीदने अपने दोस्त के साथ सीतामढ़ी शहर जा रहा था। तभी रास्ते में पिकअप वाले से साइड को लेकर उनका विवाद होने लगा। इसी बीच पिकअप चालक ने शोर मचाना शुरू कर दिया। देखते ही देखते वहां भीड़ जमा हो गई और एक युवक को पकड़ लिया। बिना कुछ सोचे समझे लोगों ने उस युवक यानी रूपेश को पीटना शुरू कर दिया।

अगर आप पत्रकारिता जगत का हिस्सा बनना चाहते हैं तो हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट में संपर्क करें

यह भी देखें-