अमर भारती : राफेल डील में केंद्र की मोदी सरकार पर लगा‍तार भ्रष्‍टाचार के आरोप लगाने वाली कांग्रेस पर वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को हमला बोला। राफेल के मुद्दे पर कांग्रेस के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए उन्‍होंने कहा ‘कांग्रेस की ओर से राफेल डील की कीमत पर हमेशा से ही झूठे तथ्‍य पेश किए गए हैं। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी खुद ही अपने अलग-अलग भाषणों में 2007 की इस राफेल डील की सात अलग कीमतें बताई हैं।’

समाचार एजेंसी एएनआई को दिये इंटरव्यू में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने एक-एक कर राहुल गांधी और कांग्रेस के सारे आरोपों पर न सिर्फ जवाब दिया है, बल्कि पलटवार भी किया। अरुण जेटली ने एक लंबे इंटरव्यू में कहा कि कांग्रेस ने राफेल की कीमत पर जो भी तथ्य सामने रखे हैं, वह सभी गलत हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने 2007 राफले डील के संबंध में खुद अलग-अलग भाषणों में 7 अलग-अलग कीमतों का जिक्र किया है। इसके साथ ही अरुण जेटली ने यह भी कहा कि यूपीए सरकार ने देश की सुरक्षा के साथ समझौता किया था। अरुण जेटली ने कहा कि राहुल गांधी को राफेल को लेकर कोई समझ नहीं है। पता नहीं उन्हें इसकी कब समझ होगी।

राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा ‘राफेल डील पर आरोप लगाने वाली बहस प्राइमरी स्‍कूल में होने वाली बहस के समान है। जैसे मैंने किसी सामान के लिए 500 रुपये दिए और तुमने 1600 रुपयों में खरीदा। यह सभी तर्क यह दर्शाते हैं कि राहुल गांधी की सोच कितनी छोटी है। जेटली ने राफेल डील की कीमतों में बढ़ोतरी करने के आरोपों पर कहा ‘2015 और 2016 में राफेल विमान सौदे पर जितनी भी बातचीत हुई और जब 2016 में यह डील फाइनल हुई तो जो कीमतें बढ़ीं, वो अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर मुद्रा कीमतों में आए बदलाव के कारण बढ़ीं। विमान की बुनियादी कीमत में 9 फीसदी कमी आई। क्‍या कांग्रेस इसे जानती है।’

राफेल डील को लेकर वित्तमंत्री अरुण जेटली ने आगे कहा, “कांग्रेस को यह याद रखना होगा कि वह जनता को हर समय बेवकूफ नहीं बना सकती। यह दो सरकारों के बीच हुआ सौदा है। भारत सरकार 36 फुली-लोडेड विमान फ्रांस से खरीदेगी, किसी प्राइवेट कंपनी या संस्था का कोई दखल नहीं। सरकार की भूमिका भी खत्म।”

अगर आप भी पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते हैं तो हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट में संपर्क करें

 यह भी पढ़े-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here