अमर भारती : भारत ने रविवार को स्वदेशी गाइडेड बम-एसएएडब्ल्यू और एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल ‘हेलिना’ का राजस्थान के पोखरण में अलग-अलग फायरिंग रेंज में सफल परीक्षण किया। रक्षा मंत्रालय ने रविवार को बताया कि चांधण रेंज में वायु सेना के विमान से स्मार्ट एंटी एयरफिल्ड वीपन (एसएएडब्ल्यू) का सफल परीक्षण हुआ। हेलिना का परीक्षण पोखरण में हुआ। इसका परीक्षण रविवार को दोपहर दो बजे किया गया।

बताया गया है कि हैलिना का परीक्षण उसकी पूरी रेंज में किया गया। मंत्रालय ने बताया कि एसएएडब्ल्यू युद्धक सामग्री से लैस था और पूरी सटीकता के साथ लक्ष्य पर निशाना साधने में यह सफल रहा। बयान में कहा गया, ‘एसएएडब्ल्यू उम्दा दिशासूचक का इस्तेमाल करते हुए विभिन्न जमीनी लक्ष्यों को तबाह करने में सक्षम है। मिसाइल को लॉन्च करने से पहले इनफ्रेयर्ड इमेजिंग सीकर (IIR) के जरिए ऑपरेट किया गया। ये सबसे एडवांस एंटी टैंक सिस्टम है। मिशन के लॉन्च के दौरान डीआरडीओ, भारतीय सेना के अधिकारी मौजूद रहे। पोखरण फायरिंग रेंज में हेलिना मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया।

यह दुनिया में अत्याधुनिक एंटी टैंक हथियारों में से एक है। इन हथियारों को डीआरडीओ ने विकसित किया है। गाइडेड बम को वायुसेना और हेलिना मिसाइल को सेना के लिए तैयार किया गया है। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस कामयाबी के लिए डीआरडीओ को बधाई दी। उन्‍होंने कहा कि इन हथियारों से देश की रक्षा क्षमता बढ़ेगी।

अगर आप भी पत्रकारिता में दिलचस्पी रखतें है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्ट्टीयूट से

यह भी देखें-