Reading Time: 1 minute

अमर भारती : मुंबई के नालासोपारा में ATS  ने छापेमारी के दौरान बड़ी मात्रा में विस्फोटक बरामद किए हैं। यहां सनातन संस्था से जुड़े वैभव राउत के घर और दुकान पर एटीएस ने छापेमारी की,  इस दौरान करीब 8  देसी बम बरामद किए गए। सूत्रों के अनुसार गुरुवार रात को ही ये छापेमारी की गई। एटीएस सूत्रों की मानें तो वैभव राउत के घर से 8 देसी बम मिले हैं, तो वहीं घर के पास ही दुकान से मिले कच्चे माल में बहुत बड़ी संख्या में गन पाउडर, डेटोनेटर हैं। जिनसे दो दर्जन बम पर्याप्त मात्रा में बनाए जा सकते हैं।

सनातन धर्म से जुड़े व्यक्ति के घर पर बम और उसे बनाने की सामग्री मिलना चौंकाने वाला लगता है। जांचकर्ता अब इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि इन विस्फोटकों का स्रोत क्या है और राउत कहां इनका प्रयोग करने वाला था।

एटीएस की टीम ने राउत पर पिछले कुछ समय से नजरें रखी हुई थीं और गुरुवार शाम को रेड की गई। छापेमारी के दौरान वैभव घर में ही मौजूद था, जहां उसे हिरासत में लिया गया। छापेमारी के दौरान एटीएस की डॉग स्क्वायड, फॉरेंसिक टीम के अधिकारी मौजूद रहे। सर्च ऑपरेशन अभी भी जारी है।

एटीएस ने वैभव राउत को गिरफ्तार कर लिया है, उसे भोईवाडा कोर्ट के सामने आज दोपहर तक पेश किया जाएगा। वही वैभव राउत के वकील संजीव पुनालेकर का कहना है कि एटीएस ने बिना जानकारी के उन्हें गिरफ्तार किया है, पता नहीं महाराष्ट्र और देश में किस तरह के कानून का पालन किया जा रहा है। हम इस मामले में कानूनी एक्शन लेंगे।

जानिए सनातन संस्था क्या है?

सनातन संस्थान की स्थापना 1999 में जयंत बालाजी अठावले ने की थी। आपको बता दें कि सनातन संस्था पर तर्कवादियों की हत्या और धर्म के नाम पर हिंसा फैलाने का आरोप लगता रहा है। पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के मामले में भी संस्था के एक कथित सदस्य को पुलिस गिरफ्तार कर चुकि है। हालांकि सनातन संस्था हमेशा इन आरोपों से इनकार करती रही है।

अगर आप भी पत्रकारिता में दिलचस्पी रखतें हैं तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्ट्टीयूट से

यह भी देखें- 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here