Reading Time: 1 minute

अमर भारती: पहले भारत के लोग केवल हाॅलीवुड़ सीरीज और फिल्में देखना पंसद करते थे लेकिन अब भारत में भी दमदार सीरज आ रही है जिसके चलते लोगों कि दिलचस्पी अब भारत में बन रही सीरीज और फिल्मों में बढ़ती जा रही हैं। अच्छी कहानी सबसे ज्यादा जरुरी है और सेक्रेड गेम्स तथा लस्ट स्टोरीज़ इसी का अच्छा उदाहरण है , अब ‘बृज मोहन अमर रहे’ भी इस कड़ी में ऐसी ही कोशिश करती एक फिल्म है। लेकिन नेटफ़्लिक्स को देखना एक महंगा काम है और यही वजह है कि भारत में इसका बाज़ार उस तेज़ी से बढ़ नहीं रहा है। नेटफ़्लिक्स अपनी कोशिश कर रहा है और बृज मोहन एक अच्छी कोशिश के रुप में सामने आई  है।

यह फिल्म एक मीडिल क्लास फैमली के बारे में है जिसके घर में पैसों की कमी है। अपने घर में पैसों की तंगी के चलते जो काम कहानी का मुख्य किरदार करता है ये कहानी उस पर निर्धारित हैं। बृज मोहन अमर रहे कहानी है बृज मोहन (अर्जुन माथुर) की, जो बैंक के कर्ज़ों को चुकाने, घर चलाने के चक्कर में खुद को एक ऐसे जाल में फंसा लेता है कि उससे निकलना मुश्किल हो जाता है। घर और बाहर से परेशान, धोखा खाया बृज अपनी आइडेंटिटी को अमर सेठी के तौर पर बदलता है और फिर अपने ही कत्ल के इल्जाम में फंस जाता हैं। इसके बाद कानून, पुलिस और पैसे का ऐसा खेल होता है कि बृज मोहन को समझ आ जाता है कि कोई अपना नहीं होता।

बृज मोहन अमर रहे’ में लीड एक्टर के तौर पर अर्जुन माथुर हैं, जबकि अन्य कास्ट में निधि सिंह, मानव विज, शीतल ठाकुर, योगेंद्र टीकू जैसे मुझे हुए कलाकार भी हैं। इस फिल्म के डायरेक्टर निखिल नागेश भट्ट हैं। नेटफ्लिक्स पर ‘सेक्रेड गेम्स’ की सफलता के बाद, इंडिया के लोगों में इसका क्रेज काफी बढ़ता हुआ देखा गया है। बता दें कि इस फिल्म के  निर्देशक निखिल भट्ट ने दिल्ली की जिन बारिकियोें को फिल्म मे दरशाने कि कोशिश कि है उनमे वह काफी हद तक कामयाब भी हुए है।

इस फिल्म को आप एक बार देखिए ज़रूर, हां इसके लिए आपको नेटफ्लिक्स के सब्सक्रिप्शन की ज़रूरत होगी और वो सिनेमा के टिकट से थोड़ा महंगा पड़ सकता है।

अगर आप भी पत्रकारिता में दिलचस्पी रखते हैं तो हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट में आए

यह भी देखें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here