अमर भारती : महाराष्ट्र में एक लंबे समय से चले आ रहे मराठा समाज के आरक्षण आंदोलन के बावजूद बीजेपी ने सांगली चुनाव में बाजी मार ली है। जहां हाल ही में भारतीय जनता पार्टी ने महाराष्ट्र के सांगली पालिका चुनाव में पूर्ण बहुमत से अप्रत्याशित जीत हासिल कर ली है वहीं दूसरी तरफ जलगांव में भी बीजेपी का जोश देखने को मिला है।

आपको बता दें चुनाव में दोनों शहरों के 153 सीटों पर 754 उम्मीदवार मैदान में उतरे थे। सांगली महापालिका की स्थापना के बाद बीजेपी के हाथ पहली बार जीत आई है। कुल 78 में से 41 सीटों पर जगह बनाकर बाजेपी ने परचम लहराया है। पिछले 20 सालो में पहली बार सांगली पालिका चुनाव में कमल खिला है। जलगांव में बीजेपी ने 75 में से 57  पर अपनी दमदार पकड़ बनाई है।

इस चुनाव में बीजेपी की जीत चौंका देने वाली है क्योंकि पिछले चुनाव में बीजेपी को इस में एक सीट भी हासिल नहीं हुई थी। सांगली चुनाव नतीजों पर सबकी पैनी नज़र जमी हुई थी। पिछले चुनाव में कांग्रेस को 42 तो एनसीपी को 18 सीटें हासिल हुई थीं और इस बार बीजेपी ने पूर्ण बहुमत से जीत हासिल कर ली है।

जलगांव पालिका चुनाव में 75 सीचों पर चुनाव हुआ था जिसमें बहुजन समाज पार्टी ने 57 सीटों पर जगह बनाकर जीत हासिल की है। इससे यह तो साफ है बीजेपी ने शिवसेना, NCP और कांग्रेस को धूल चटा दी है। इस चुनावों में विपक्षी दल कांग्रेस और एनसीपी ने गठबंधन किया था। सांगली में 451 उम्‍मीदवारों ने चुनाव लड़ा था जबकि जलगांव में 303 उम्‍मीदवार मैदान में रहे और सांगली में 4,24,179 मतदाता हैं वहीं जलगांव में 3,65,072 मतदान नज़र आए हैं।

यदि आप भी पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते हैं तो हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से जुड़िये-

यह भी देखें-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here