अमर भारती : अनिल कपूर और ऐश्‍वर्या राय की फिल्म फन्‍ने खान 3 अगस्‍त को देशभर के सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। निर्देशक अतुल मांजरेकर की ये फिल्म संगीत विषय पर बनाई है। इस फिल्म में एक बाप के संघर्ष की कहानी है जो अपनी बेटी को रॉकस्‍टार बनाना चाहता है। इस फिल्म में एक पिता के संघर्ष की कहानी दिखाई गई है जो तमाम परेशानियों और समाज के ताने सुनने के बाद भी अपनी बेटी का सपना पूरा करने में कामयाब हो जाता है और फिल्म में एक आम लड़की को संगीत की दुनिया में फर्श से अर्श तक पहुंचाने की कहानी दिखाई गई है। अब देखना ये होगा कि ये फिल्म सिनेमाघरों में दर्शकों को रिझाने में कितना कामयाब हो पाएगी।

फिल्म में इमोशनल सीन की कोई कमी नहीं है। अनिल कपूर ने अपने किरदार को बखूबी निभाया है वो इस फिल्म में एक आदमी की भूमिका में नजर आ रहे हैं जो अपनी बेटी के सपनों के लिए हर तरह से कोशिश करता दिखाया जाता है। अनिल की बेटी लता गायक बनना चाहती है लेकिन लता को अपने वजन की वजह से कई बार उपेक्षा और अपमान का सामना करना पड़ता है। फिल्म में यह भी दिखाया गया है की एक पिता जो खुद मोहम्मद रफी तो नहीं बन पाता लेकिन अपनी बेटी को लता मंगेशकर बनाने के सपने जरूर देखता है।

फिल्म में अनिल के किरदार का नाम प्रशांत शर्मा है जो दोस्तों के बीच फन्ने खान के नाम से जाना जाता है वह अपने सपनो को पूरा करने के लिए जी तोड़ मेहनत करता है और बॅलीवुड के एक्टर शम्मी को भगवान की तरह मानता है। उसकी जिंदगी का लक्ष्य ही एक्टर बनना होता है जो अपने सपने को पूरा करने के लिए जिंदा है। म्यूजिक पर बेस्ड ये फिल्म बॉक्‍स ऑफि‍स पर कितना धमाल करती है ये तो आने वाले समय में ही पता चलेगा।

अगर आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते हैं तो हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट में संपर्क करें

 यह भी देखें-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here