अमर भारती: विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने आबादी को रोकने के लिए एक पहल की योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आबादी के नियंत्रण के लिए हमें बिना किसी भेदभाग के कदम उठाने होंगे। लोगों को  बड़ती आबादी के बारे में जागरूक किया जाना चाहिए। जनसंख्या नियंत्रण भी एक बड़ी चुनौती है। ये कहते हुए  सीएम योगी आदित्यनाथ ने झंडी दिखाकर जागरूकता रैली का शुभारंभ किया। इस जागरुकता में उनका साथ स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, रीता बहुगुणा जोशी, स्वाति सिंह जैसे नेताओं ने दिया।

 

ये जागरुकता रैली लखनऊ 5 कालीदास स्थित सीएम आवास से निकाली गई। शहर के 1090 चौराहे पर रैली खत्म हुई. योगी ने यहां बढ़ती जनसंख्या के खतरे से आगाह किया। उन्होंने कहा कि अगर 2023-24 तक बढ़ती हुई जनसंख्या पर रोक नहीं लगी तो देश में खाद्य संकट पैदा हो सकता है. योगी ने कहा भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है, लेकिन बढ़ती जनसंख्या चिंता का विषय है। यागी आदित्यानाथ ने  छोटा परिवार, व्यापक परिवार’ इस संकल्प के साथ लोगों को इस अभियान से जुड़ने को कहा। इस मौके पर एक हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया. इस अभियान की शुरुआत भी योगी आदित्यनाथ ने ही की।

विश्व जनसंख्या दिवस की शुरूआत 11 जुलाई 1989 में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम द्वारा की गई थी। उस वक्त विश्व की जनसंख्या लगभग 5 अरब थी. इस जनसंख्या की ओर ध्यान देते हुए 11 जुलाई 1989 को ‘विश्व जनसंख्या दिवस’ की घोषणा की गई। भारत जनसंख्या वृद्धि में दुनिया के कई देशों से बहुत आगे है। आजादी के वक्त (1947) भारत की आबादी 34.20 करोड़ थी जो आज बढ़ कर 1 अरब 25 करोड़ से भी ऊपर पंहुच चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here